ब्रेकिंग न्यूज़
देश-विदेश ब्रेकिंग न्यूज़

इंडोनेशिया में सोना हुआ पाम-ऑयल, 1 लीटर की कीमत 22,000 रुपए! भारत पर भी पड़ रहा असर, 5-प्वाइंट में समझें

नई दिल्ली : इंडोनेशिया कच्चे पाम-ऑयल का दुनिया का सबसे बड़ा उत्पादक (Indonesia Biggest Producer of CPO) है. इसके बावजूद वह पाम-ऑयल संकट (Indonesia Palm Oil Crisis) से जूझ रहा है. आलम ये है कि वहां पाम-ऑयल की कीमतें की सोने की तरह हो गई हैं. मार्च-2022 में वहां 1 लीटर ब्रांडेड रिफाइंड पाम-ऑयल की कीमत 22,000 रुपए (इंडोनेशियाई मुद्रा) तक जा पहुंची है. जबकि बीते साल मार्च में इसी उत्पाद की कीमत 14,000 रुपए तक थी. इंडोनेशिया में पाम-ऑयल की इन आसमान छूती कीमतों का असर पूरी दुनिया पर दिख रहा है. स्वाभाविक रूप से भारत पर भी क्योंकि इंडोनेशिया दुनिया के तमाम देशों को सबसे अधिक सीपीओ का निर्यात (Biggest Exporter of CPO) भी करता है. जाहिर तौर पर अन्य वनस्पति तेलों (Vegetable Oils) पर भी प्रभाव पड़ रहा है. साथ ही, आम आदमी पर भी क्योंकि वनस्पति तेल हर घर के खान-पान का अभिन्न हिस्सा हैं. इसीलिए इंडोनेशिया के पाम-ऑयल संकट (Indonesia Palm Oil Crisis) से जुड़े पहलुओं को जानने की दिलचस्पी भी हर किसी की हो सकती है. लिहाजा, इसे समझते हैं 5-प्वाइंट (5-Points Analysis) के जरिए.

निजी कारोबारियों ने इंडोनेशिया में बढ़ाईं पाम-ऑयल की कीमतें 

इंडोनेशिया के सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार, साल-2020 के दौरान देश में 4.48 करोड़ टन सीपीओ का उत्पादन हुआ. इसमें 60% उत्पादन निजी कंपनियों ने किया. शेष 34% आम किसानों और बाकी 6% सरकारी कंपनियों ने. मतलब, देश के कुल सीपीओ उत्पादन (CPO Production) में लगभग पूरा निजी कारोबारियों, किसानों की है. जानकार बताते हैं कि घरेलू और वैश्विक परिस्थितियों को देखते हुए इन्हीं कारोबारियों ने इंडोनेशिया में पाम-ऑयल का संकट खड़ा किया है. वहां के व्यापार मंत्री मुहम्मद लुत्फी खुद हाल ही खाद्य-तेल माफिया को इस संकट का जिम्मेदार बता चुके हैं.

 

संबंधित पोस्ट

युवा महिलाओं के लिए प्रेरणा बन गई खुशबू सांघवी

Hindustanprahari

केंद्रीय जलमार्ग मंत्री से रोजग़ार के विषय में मानवाधिकार न्याय जन सेवा ट्रस्ट , नई दिल्ली ने चर्चा ।

Hindustanprahari

दिव्यांगों को रोजगार दिलाने के लिए आगे आया समर्थम ट्रस्ट

Hindustanprahari

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल को समन जारी, बांद्रा पोलिस स्टेशन में हाजिर होने का नोटिस

Hindustanprahari

हमारी फिल्‍म ‘बॉस’ के साथ आपकी दिवाली होगी खास : पवन सिंह

Hindustanprahari

भागलपुर का मेयर कैसा हो संवाद परिचर्चा में 37 प्रसिद्ध संस्थाओं व 102 प्रतिनिधियों ने प्रो0 डॉ0 देवज्योति मुखर्जी को मेयर बनाने का लिया संकल्प 

Hindustanprahari