ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति राज्य

शिवसेना किसकी अब 5 जजो की संविधान पीठ करेगी फैसला

शिवसेना किसकी अब 5 जजो की संविधान पीठ करेगी फैसला, SC ने कहा गुरुवार तक कोई एक्शन ना ले चुनाव आयोग।

महाराष्ट्र : शिवसेना पर अधिकार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज एक बार फिर से सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान शिंदे गुट और उद्धव खेमा की तरफ से दलीलें दी गईं। दलील सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को आदेश दिया कि वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के खेमे द्वारा ‘असली शिवसेना’ पार्टी के रूप में मान्यता देने और उसे ‘धनुष और तीर’ का चुनाव चिन्ह आवंटित करने के लिए दायर आवेदन पर गुरुवार तक कोई कार्रवाई न करे।

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को पांच जजों की संविधान पीठ को सौंप दिया। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अब संविधान पीठ तय करेगी कि क्या स्पीकर के खिलाफ प्रस्ताव लंबित हो तो वह अयोग्यता पर सुनवाई कर सकते हैं। पार्टियों के आंतरिक लोकतंत्र और उसमें चुनाव आयोग की भूमिका पर भी संविधान पीठ को विचार करे।

 

गुरुवार को संविधान पीठ के समक्ष सूचीबद्ध करें मामला
न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी और न्यायमूर्ति हिमा कोहली की पीठ ने कहा कि मामले को परसों संविधान पीठ के समक्ष सूचीबद्ध करें और पीठ चुनाव आयोग की कार्यवाही से संबंधित चुनाव चिन्ह के बारे में शुरुआत में फैसला करेगी।

 

शिंदे गुट ने शिवसेना पर किया था दावा
दरअसल, सरकार बनाने के बाद एकनाथ शिंदे ने शिवसेना पर अपना दावा किया था। उन्होंने चुनाव आयोग से मांग की थी कि उनके गुट को असली शिवसेना के रूप में मान्यता दी जाए और पार्टी का चुनाव चिह्न तीर व धनुष आवंटित किया जाए। इसके खिलाफ उद्धव गुट ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी।

संबंधित पोस्ट

संजय निरुपम की उपस्थिति में एमएनबी के दिव्यांगों ने किया रक्तदान

Hindustanprahari

मुकुल रॉय के वापस टीमसी में जाने के पीछे कोई गहरा रहस्य तो नहीं?

Hindustanprahari

छह राज्‍यों से महाराष्ट्र आने वाले यात्रियों के लिए जरूरी खबर, सरकार ने जारी की नई SOP

Hindustanprahari

दिवाली पर घर जा रही लड़की को प्रेमी ने जिंदा जलाया, 11 घंटे दर्द से तड़पती रही; इलाज के दौरान मौत

Hindustanprahari

राईप एयरलाइंस ने भागलपुर हवाई अड्डा का किया निरीक्षण

Hindustanprahari

गैंगस्टर इकबाल मिर्ची की मुंबई में स्थित लगभग 500 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क

Hindustanprahari