ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ शहर

जरूरतमंदों को फरिश्ता सोशल फाउंडेशन के द्वारा रेहा खान ने बांटा राशन किट

मुम्बई। मॉडल-एक्ट्रेस रेहा खान ने अपने एनजीओ फरिश्ता सोशल फाउंडेशन के द्वारा सुखसागर हाईटेक अस्पताल, महावीर नगर, कांदिवली पश्चिम, मुम्बई में आंखों की रौशनी से वंचित कुछ लोगों को राशन किट देकर उनकी मदद की।
रेहा खान (Rehaa Khann) ने बताया कि मुम्बई के कांदिवली इलाके में मैंने अपने एनजीओ फरिश्ता सोशल फाउंडेशन के द्वारा रमज़ान के महीने में कुछ दृष्टिबाधितों की मदद की। साथ ही दर्जनों जरुरतमन्द व मजबूरों को राशन किट देकर उनकी मदद की गई। इस राशन किट में चावल, आटा, तेल, शक्कर, घी, नमक, दाल, ड्रायफूड, सेवइयां रखा गया था।
रेहा खान ने आगे बताया कि लोगों की मदद करना उन्हें अच्छा लगता है। इसके अलावा दृष्टिबाधित और यतीम लोगों के साथ खुशियां बांटना अच्छा लगता है। फरिश्ता सोशल फाउंडेशन के जरिये इस तरह राशन का वितरण मेरा पहला प्रयास था। आगे हम हजारों लाखों लोगों की मदद करने का इरादा रखते हैं। मैं तमाम लोगों से कहूँगी कि जिंदगी बहुत छोटी है, आप दूसरों की मदद करते रहें। मेरे इस मिशन में आप भी शामिल हो सकते हैं, जिससे जितना हो सके, उतनी सहायता कर सकता है। इंसानियत की सेवा करना भलाई का काम है। अपने लिए तो हर कोई जीता है, दूसरों के लिए जी कर देखें आपके दिल को खूब तसल्ली और खुशी मिलती है। जरूरतमंदों की ख्वाहिश पूरी करने में उनके चेहरे पर मुस्कान लाने में मुझे भी प्रसन्नता मिलती है।


रेहा खान ने अपनी बात को जारी रखते हुए आगे कहा कि पिछले दो वर्षों से कोविड की वजह से ईद का त्योहार खुलकर लोग नहीं मना सके, ऐसे में इस साल सबके साथ मिलकर पर्व मनाने की जरूरत है।
फरिश्ता सोशल फाउंडेशन नाम रखने के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में रेहा खान ने कहा कि फरिश्ते दिखाई नहीं देते मगर मुसीबत के लम्हों में आपकी मदद करके चले जाते हैं। इस वजह से मैंने अपने एनजीओ का नाम फ़रिश्ता सोशल फाउंडेशन रखा है।

– संतोष साहू

संबंधित पोस्ट

विकलांग युवाओं के लिए समर्थनम ट्रस्ट का चौथा रोजगार मेला

Hindustanprahari

बीजेपी का चार राज्यों में प्रचंड जीत का जश्न डोंबिवली में भी मना

Hindustanprahari

कोरोना योद्धा अवार्ड से सम्मानित होंगे हास्य कलाकार श्रवण कुमार

Hindustanprahari

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिस एंड मिसेज इंडिया व नारी शक्ति सम्मान का सफल आयोजन

Hindustanprahari

मार्कण्डेय त्रिपाठी की पंक्ति “हिन्दू संस्कृति”

Hindustanprahari

मार्कण्डेय त्रिपाठी की पंक्ति “वर्षा ऋतु”

Hindustanprahari