ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ राज्य

गुजरात के मोरबी में बड़ा हादसा, केबल पुल टूटने से कई लोग नदी में गिरे, अब तक 70 लोगों की मौत; नेवी और एयरफोर्स को भी बुलाया गया

प्रतीक कै. गुप्ता (उप संपादक)
गुजरात : गुजरात के मोरबी में रविवार शाम को मच्छु नदी पर बना केबल पुल टूटने से एक बड़ा हादसा हो गया। इस घटना के दौरान पुल के ऊपर खड़े कई लोग नदी में गिर गए।

घटना में अब तक 70 लोगों की मौत होने की खबर है। मरने वालों में महिलाओं और बच्चों की संख्या अधिक बताई जा रही है। मुख्यमंत्री अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। वहीं, सरकार ने इस घटना का संज्ञान लेते हुए इसकी SIT जांच के आदेश दे दिए हैं।

हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत में गुजरात पुलिस के महानिदेशक आशीष भाटिया ने कहा, ’70 शव बरामद किए गए हैं जबकि और अभी नदीं में हो सकते हैं। फिलहाल इस हादसे में मारे गए लोगों की निश्चित संख्या बता पाना मुश्किल है।’

रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार जारी है, लेकिन अंधेरा होने के चलते रेस्क्यू में काफी दिक्कतें आ रही हैं। पुलिस और प्रशासन की मदद के लिए एनडीआरएफ की तीन की टीमें भी जल्द मौके पर पहुंच रही हैं।एनडीआरएफ के डीआईजी मोहसेन शाहिदी ने कहा कि एनडीआरएफ की दो और टीमों को वडोदरा हवाई अड्डे से राजकोट हवाई अड्डे के लिए रवाना किया जा रहा है।

मोरबी केबल पुल गिरने के घटनास्थल पर मौजूद गुजरात के पंचायत मंत्री बृजेश मेरजा ने बताया था कि 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और यह संख्या और अधिक हो सकती है। वर्तमान में बचाव अभियान जारी है और कई लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त सैकड़ों की तादाद में लोग पुल पर मौजूद थे।

नेवी और एयरफोर्स को भी बुलाया गया

वहीं, एक रक्षा अधिकारी ने बताया कि एनडीआरएफ टीम के साथ वायुसेना का विमान राहत कार्यों के लिए रवाना हो गया है। एक घंटे में दूसरा विमान भेजा जाएगा। जामनगर और आसपास के अन्य स्थानों में बचाव कार्यों के लिए हेलीकाप्टरों को तैयार रखा गया है। भुज और अन्य स्थानों से मोरबी के लिए गरुड़ कमांडो भेजे गए हैं। इसके साथी भारतीय नौसेना के 50 जवान भी मोरबी भेजे गए हैं।

अधिकारी ने कहा कि ध्रांगधरा के पास एक आर्टिलरी ब्रिगेड से डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ सहित भारतीय सेना की एक टीम पहले ही मोरबी में दुर्घटनास्थल पर पहुंच चुकी है और बचाव और राहत कार्यों में हिस्सा ले रही है। डॉक्टरों और अन्य राहत सामग्री के साथ सेना की एक और टीम शीघ्र ही घटनास्थल पर पहुंच रही है।

सीएम ने मुआवजे का किया ऐलान

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने हादसे पर दुख जताते हुए मृतकों के परिवार के लिए 4-4 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने का ऐलान किया है। सीएम ने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं और मोरबी के लिए रवाना हो गए हैं।

यह पुल करीब 100 साल पुराना बताया जा रहा है और कुछ दिन पहले ही इसकी मरम्मत कराई गई थी। मरम्मत के बाद 5 दिन पहले ही इसे आम जनता के लिए फिर से खोला गया था।

पीएम मोदी ने गुजरात के सीएम से की बात, मुआवजे का भी किया ऐलान

वहीं, प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री और अन्य अधिकारियों ने मोरबी में हुई दुर्घटना के संबंध में बात की है। उन्होंने बचाव अभियान के लिए टीमों को तत्काल जुटाने, स्थिति की बारीकी से और लगातार निगरानी करने और प्रभावित लोगों को हर संभव मदद देने को कहा है।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोरबी हादसे में जान गंवाने वालों में से प्रत्येक के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2 लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

मोरबी पुल हादसे के शिकार लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं एवं प्रार्थनाएं : मुर्मू

वहीं, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि उनकी संवेदनाएं एवं प्रार्थनाएं गुजरात के मोरबी में पुल हादसे में प्रभावित लोगों के साथ हैं। उन्होंने साथ ही उम्मीद जताई कि राहत और बचाव के प्रयासों से पीड़ितों को राहत मिलेगी। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ”गुजरात के मोरबी में हुई त्रासदी ने मुझे चिंतित कर दिया है। मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं प्रभावित लोगों के साथ हैं। राहत और बचाव प्रयासों से पीड़ितों को राहत मिलेगी।”

https://twitter.com/ANI/status/1586718654624067584?t=4sj19-C1y1r84-BaOFqeYA&s=19

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा कि मोरबी में सस्पेंशन ब्रिज गिरने की घटना से मुझे गहरा दुख हुआ है। राहत और बचाव कार्य जारी है। घायलों के तत्काल इलाज की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। मैं इस संबंध में जिला प्रशासन के लगातार संपर्क में हूं। पटेल ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भी मुझसे मोरबी हादसे के बारे में बात कर स्थिति की जानकारी ली है। पीएम ने पूरी स्थिति और बचाव कार्यों की निरंतर निगरानी के संबंध में सिस्टम को आवश्यक निर्देश और मार्गदर्शन दिया है।

मृतकों के लिए 4 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री के साथ आगे के कार्यक्रमों को छोटा करके जल्द गांधीनगर पहुंच रहा हूं। राज्य के गृर मंत्री को मौके पर पहुंचने और बचाव कार्यों का मार्गदर्शन करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि एसडीआरएफ समेत जवानों को बचाव कार्य में लगाया गया है। मैं मोरबी त्रासदी में अपनी जान गंवाने वाले नागरिकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार प्रत्येक मृतक के परिवार को 4 लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये देगी।

एनडीआरएफ मौके पर पहुंच रही

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोरबी में हुए हादसे से अत्यंत दुखी हूं। इस विषय में मैंने गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी व अन्य अधिकारियों से बात की है। स्थानीय प्रशासन पूरी तत्परता से राहत कार्य में लगा है, NDRF भी शीघ्र घटनास्थल पर पहुंच रही है। प्रशासन को घायलों को तुरंत इलाज देने के निर्देश दिए हैं।

इसके साथ ही आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया है। केजरीवाल ने कहा कि गुजरात से बेहद दुःखद खबर मिल रही है। मोरबी में ब्रिज टूट जाने से कई लोगों के नदी में गिर जाने की खबर है। भगवान से उनकी जान और स्वास्थ्य की प्रार्थना करता हूं।”

वहीं, मोरबी के विधायक और राज्य मंत्री बृजेश मेरजा ने कहा कि पुल गिरने से कई लोग नदी में गिर गए। बचाव अभियान जारी है। ऐसी खबरें हैं कि कई लोग घायल हुए हैं। उन्हें अस्पताल ले जाया जा रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, जब यह पुल टूटा इस झूलते पुल पर कई महिलाएं और बच्चे थे।

संबंधित पोस्ट

महाराष्ट्र के अमरावती में दो मंजिला इमारत गिरने से पांच की मौत, दो घायल

Hindustanprahari

रेलवे सुरक्षा बल ने लखनऊ जं. पर 20 वर्षीय लावारिस लड़की को किया परिजनों के हवाले!

Hindustanprahari

शिरडी के साईं बाबा मंदिर में 398 करोड़ रुपए अर्पण, सिर्फ 1 साल में भक्तों ने दिया इतना दान

Hindustanprahari

कुटुंब ऐप क्या है ? इसमें ग्रुप और संगठन कैसे बनाएं । Kutumb App Download

Hindustanprahari

मार्कण्डेय त्रिपाठी की पंक्ति “हिन्दू संस्कृति”

Hindustanprahari

ग्रामीण स्तर से खिलाड़ियों की नर्सरी की जाएगी तैयार प्रतिभावान को मिलेगा आगे बढ़ने का मौका – एडीजी जोन

Hindustanprahari