ब्रेकिंग न्यूज़
देश-विदेश बिज़नेस ब्रेकिंग न्यूज़

अक्टूबर में टैक्स से छप्परफाड़ कमाई, जीएसटी कलेक्शन 1.5 लाख करोड़ रुपये के पार हुआ

देश में जीएसटी कलेक्शन के मोर्चे पर अच्छी खबर आई है और अक्टूबर में ये 1.5 लाख करोड़ रुपये के पार चला है. ये दूसरा मौका है जब जीएसटी संग्रह 1.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा.

नई दिल्ली : देश में टैक्स कलेक्शन के मोर्चे पर शानदार खबर आई है क्योंकि अक्टूबर में जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) कलेक्शन 1.5 लाख करोड़ रुपये के पार हो गया है. अक्टूबर में जीएसटी कलेक्शन 1,51,718 करोड़ रुपये रहा है. ये अब तक का दूसरा सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन साबित हुआ है. इससे पहले अप्रैल 2022 में सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन हासिल किया गया था. वस्तु एवं सेवा कर संग्रह (जीएसटी) अक्टूबर में 16.6 फीसदी बढ़कर 1.52 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया है. जीएसटी संग्रह अप्रैल में लगभग 1.68 लाख करोड़ रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था जबकि पिछले साल अक्टूबर में यह आंकड़ा 1.30 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा था.

लगातार 8वीं बार जीएसटी कलेक्शन 1.4 लाख करोड़ रुपये के पार
मासिक आधार पर देखें तो ये लगातार आठवां महीना है जब देश में जीएसटी कलेक्शन 1.4 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया है. वहीं जीएसटी लागू होने के बाद से ये दूसरा मौका है जब किसी महीने में गुड्स और सर्विसेज टैक्स 1.4 लाख करोड़ रुपये के पार रहा है. सरकार के लिए ये जीएसटी का बढ़ा हुआ आंकड़ा राहत की खबर है.

GST कलेक्शन का ब्यौरा
अक्टूबर में जीएसटी संग्रह 1,51,718 करोड़ रुपये का रहा और इसमें से 26,039 करोड़ रुपये का CGST रहा है. SGST का योगदान 33,396 करोड़ रुपये का रहा है और IGST का आंकड़ा 81,778 करोड़ रुपये का रहा है. इसमें 37,297 करोड़ रुपये के इंपोर्ट गुड्स का आंकड़ा रहा है. वहीं सेस 10,505 करोड़ रुपये रहा है जिसमें 825 करोड़ रुपये गुड्स इंपोर्ट से हासिल किए गए हैं. ये अभी तक का दूसरा सबसे ऊंचा आंकड़ा रहा है.

ई-वे बिल का आंकड़ा
सितंबर 2022 में 8.3 करोड़ ई-वे बिल जेनरेट हुए हैं जो कि अगस्त के 7.7 करोड़ ई-वे बिल से अच्छी बढ़ोतरी माना जा सकता है. देश में जीएसटी कलेक्शन के मोर्चे पर ये राहत भरी खबर है.

जीएसटी से भर रहा सरकारी खजाना
देश में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स को लागू होने के बाद सरकारी खजाने में इससे हर महीने अच्छी खासी रकम आ रही है. जीएसटी राजस्व में बढ़ोतरी इस बात का संकेत हैं कि अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है और सरकार को जीएसटी से अच्छी कमाई हो रही है.

मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई का डेटा भी आया
आज ही देश में मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई का डेटा भी आया है जिसके तहत अक्टूबर में विनिर्माण गतिविधियों में तेजी देखी गई है. अक्टूबर में मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई 55.3 पर आई है जो सितंबर में 55.1 पर रही थी. इससे जाहिर होता है कि अक्टूबर में मैन्यूफैक्चरिंग एक्टिविटी में बढ़त रही और इसके पीछे त्योहारी सीजन का भी प्रभाव रहा है.

संबंधित पोस्ट

क्रिकेटर मिथाली राज की खेल यात्रा का भावनात्मक चित्रण है ‘शाबास मिथु’

Hindustanprahari

फिल्म ‘कृष्ण संगिनी यमुना’ का संगीत सान म्यूजिक द्वारा होगा रिलीज

Hindustanprahari

नेहरू सेंटर में अनिता राज के हाथों ‘कला स्पंदन आर्ट फेयर’ का उद्घाटन सम्पन्न

Hindustanprahari

तिरुपति मंदिर ट्रस्ट ने घोषित की संपत्ति, कहा- 10 टन से अधिक सोना, 15,900 करोड़ रुपये नकद

Hindustanprahari

दंगल टीवी के यूट्यूब चैनल पर दर्शक देख सकते हैं लोकप्रिय शो ‘रंग जाऊं तेरे रंग में’ 

Hindustanprahari

मार्शल आर्ट प्रशिक्षक चीता यज्ञेश शेट्टी ने ब्रूसली की 81वीं जयंती मनाते हुए पर्यावरण की रक्षा के लिए संदेश दिया 

Hindustanprahari