ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ राज्य

फसलों के अवशेष को खेतों में ना जलाएं किसान जलाने वाले किसान होंगे दंडित : डीएम आईएएस सुब्रत कु0 सेन,भागलपुर 

(ब्यूरो चीफ भागलपुर बिहार।डॉ0अमित कुमार)
बिहार : जिलाधिकारी भागलपुर के कार्यालय वेश्म में फसलों के अवशेष को खेतों में ना जलाने तथा फसल अवशेष को जलाने से होने वाले नुकसान के प्रति किसानों तथा आमजन के बीच जागरूकता बढ़ाने हेतु जिलाधिकारी श्री सुब्रत कुमार सेन भारतीय प्रशासनिक सेवा की अध्यक्षता में अंतर विभागीय कार्य समूह की बैठक हुई। जिसमें जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि किसानों के बीच ऐसी मान्यता है कि फसलों के अवशेष को खेत में जलाने से खरपतवार एवं कीटों को खत्म किया जा सकता है। लेकिन सच तो यह है कि फसल अवशेष जलाने से मिट्टी के पोषक तत्व एवं कार्बनिक पदार्थ की क्षति तथा खेतों में उपस्थित लाभकारी जीवाणु नष्ट हो जाते हैं। एक टन पुआल जलने से 60 किलोग्राम कार्बन मोनो ऑक्साइड तथा 1460 किलोग्राम कार्बन डाइऑक्साइड एवं 199 किलोग्राम राख तथा 2 किलोग्राम सल्फर डाइऑक्साइड सहित अन्य हानिकारक
कण निकलते हैं। जिससे सांस लेने आंख नाक एवं गले की समस्या उत्पन्न होती है।
जिलाधिकारी द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि आत्मा एवं कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से किसानों को प्रशिक्षित करें तथा फसल अवशेष को जलाने के बदले वर्मी कंपोस्ट बनाने मल्चिंग विधि से खेती करने तथा अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से फसल अवशेष ना जलाने हेतु किसानों को जागरूक किया जाए। फसल अवशेष जलाने से संबंधित बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर से संपर्क स्थापित कर डीपीआरओ को उपलब्ध कराएं ताकि आम लोगों को जागरूक किया जा सके। एवं पर्यावरण प्रदूषित होने एवं जलवायु परिवर्तन के कारण आमजन को जागरूक करने का निर्देश दिया गया। स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया गया कि सभी एवं आशा कार्यकर्ता के माध्यम से फसल अवशेषों को जलाने के कारण मानव स्वास्थ्य प्रभावी होने से बचाने के लिए लोगों को जागरूक करेंगे। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि छात्र छात्राओं के बीच फसल अवशेष को ना जलाने हेतु वाद-विवाद एवं चित्रकला इत्यादि का आयोजन कर जागरूकता फैलाया जाए। तथा विद्यालयों में छात्र-छात्राओं को शपथ दिला कर जागरूकता फैलाया जाए। जिला कृषि पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि कृषि विभाग द्वारा प्रकाशित एवं शपथ पत्र जिला शिक्षा पदाधिकारी को उपलब्ध कराएं। ग्रामीण विकास विभाग को दिया गया कि मनरेगा कर्मियों के द्वारा फसल अवशेष को ना जलाने हेतु जागरूकता फैलाया जाए। जिला पंचायती राज पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि जनप्रतिनिधि के माध्यम से फसल अवशेष ना जलाने हेतु जागरूकता फैलाया जाए। जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि टीम भावना से काम कर सभी लोगों के बीच फसल अवशेष ना जलाने हेतु जागरूकता फैलाई जाए।
यथा जिलाधिकारी भागलपुर द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी भागलपुर को निर्देश दिया गया कि विभाग द्वारा सेटेलाइट द्वारा उक्त जानकारी से अवगत करा आवश्यक कार्य कराया जाए एवं फसल अवशेष जलाने वाले चिन्हित किसानों को 3 वर्षों तक कृषि विभाग की सभी योजनाओं से वंचित रखने के लिए डीबीटी पोर्टल पर किसानों के पंजीकरण को स्थगित करने का निर्देश दिया गया। संबंधित जानकारी जनहित में जिला जनसंपर्क पदाधिकारी भागलपुर द्वारा प्रेषित की गई।

संबंधित पोस्ट

पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा-बलिया खंड में नॉन-इंटरलॉकिंग कार्य के कारण कुछ ट्रेनें प्रभावित

Hindustanprahari

नालासोपरा स्टेशन पर चोर (पाकिट मार) आरोपी को पकड़ कर GRP/BSR को सुपुर्द किया।

Hindustanprahari

अशोक कुमार मिश्र ने ग्रहण किया पूर्वोत्तर रेलवे महाप्रबन्धक का प्रभार!

Hindustanprahari

कॉस्मो ज़िमिक की डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘लाइफ ऑफ़ ए डोजो मास्टर’ मुम्बई में चीता यजनेश शेट्टी के सहयोग से रिलीज़

Hindustanprahari

गृह मंत्रालय ने जारी की 1 दिसंबर से लागू होने वाली कोरोना की नई गाइडलाइन

Hindustanprahari

अमेरिका में अब लोग स्वयं कर सकेंगे कोरोना की जांच

Hindustanprahari