ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ राज्य

कुकुरमुत्तो जैसी समाजसेवा विकास में बाधक,चुनाव समीप होते ही रोड-गली खम्भों पर आई समाजसेवियों की बाढ़  

     (हिन्दुस्तान प्रहरी ग्राउण्ड रिपोर्ट)

(ब्यूरो बिहार।डॉ0अमित कुमार)
बिहार :  बिहार के स्मार्टसिटी इन दिनों चुनावी हवा बयार से पटा हुआ है। आगामी निगम चुनाव की आहत मानों गूंज रही हो। इसबार चुनावी माहौल बिल्कुल इतिहास रचने जैसा हो गया है। पूर्व से चलती आ रही राजनीतिक परिदृश्य इसबार के निगम चुनाव में समाप्त हो गई है। जी हाँ,ये कटु सत्य है। आईये हम करते है वैश्विक राजनीतिक मंथन।

          बिहार सरकार के नगर विकास विभाग अंतर्गत इसबार के निगम चुनाव बहुत ही हटकर होगा। जैसे देश के महानगरों मेें होते आये है। अब कोई भी आम नागरिक सीधे निगम में मेयर एवं डिप्टी मेयर को चुन सकते है। इससे यह तो स्पष्ट हो गई की खरीद-फरोख्त बिल्कुल ही बंद हो गई। पूर्व से चलती आ रही परम्परा पर विराम लग गया। पहले जीते हुए पार्षद ही मेयर और डिप्टी मेयर को चुनते थे। जिसमे करोड़ों की बोली लगती थी। जिसका बिहार सरकार ने खात्मा कर दिया। उक्त महक आज पुरे राज्य में हलचल पैदा कर दी है। उक्त महक की हलांकि आरक्षणबार अधिकारिक घोषणा अधतन प्रस्तावित स्थिति में है। परन्तु राज्य भर में गली-गली में उक्त महक ऐसी फैल गई है कि राज्य के हर गली मोहल्लों के बिजली के खम्भे बैनर पोस्टर से पट गये है ऐसी राजनीतिक हवा छायी है कि मेयर ओर डिप्टी मेयर बनने के नशे में पार्षद उम्मीदवार बिल्कुल नगण्य से दिख रहे है। हर कोई आज मेयर और डिप्टी मेयर बनने का दावा कर रहा है।
          राजनीतिक मंथन पर नफा-नुकसान को लेकर चुनावी रूझान की बात करे तो 95 राजकीय व अराजकीय संस्थानों के मेंटर व उधमिता प्रशिक्षक प्रो0 डॉ0 देवज्योति मुखर्जी द्वारा पेशकश जीरो बजट कॉन्सेप्ट चुनाव व लोक उम्मीदवारी अधतन राज्य भर में चर्चा का विषय बना हुआ है। यहां तक कि राज्य के बाहर की राजनीतिक सलाहकारो को भी जीरो बजट कॉन्सेप्ट व लोक उम्मीदवारी पसंद आ रहा है। हलांकि उक्त चुनावी हवा बयार में नौसिखिए नेताओ समाजसेवियो की बाढ़ सी है। जिन्हें समाजसेवा का ह से हलंत नही पता वैसे लोग बिजली के खम्भो पर पोस्टर बैनर लगा अपने को निगम प्रत्याशी घोषित कर रहे है। नो डाउट लोकतंत्र में सभी बराबर है सभी को अभिव्यक्ति की एक समान आजादी है। परन्तु चुनावी मौसम में ही बैनर पोस्टर लगा समाजसेवियो की बाढ़ आखिर क्यों ? कही ना कही उक्त तथ्य ह्रदय को आहत देने वाली है यह सवाल अपने आप में मंथन करने लायक है व आज एक यक्ष प्रश्न बनकर खड़ा है ?
          गत एक माह से हवाई जहाज उड़ान को लेकर चल रहे जन आंदोलन का मौका हमे लगता है शायद किसी ने नही गवाया होगा इससे बेहतर ऐसे मौके चेहरा चमकाने का भला ओर क्या हो सकता। ग्राउण्ड रिपोर्टिंग तहकीकात से स्पष्ट है कि आज की समाजसेवी छवि कुछेक लोगों के घृणित मानसिकता से लवलेज धूमिल सी होती जा रही है। एक वरिष्ठ पत्रकार ने सोशल साइट्स पर टिप्पणी की है कि कितना हास्यास्पद लगता है कि जिस शहर में एक अदद बस अड्डा नही वहां से हवाई जहाज उड़ाने की बात करते है मुट्ठी भर लोग। उक्त चिंतक द्वारा यहा तक कहा गया है कि नेताओ को पगलेट रत्न की प्राप्ति इसलिए होती है जब वे जनता को मुर्ख समझते है। शोषण करते है और खजाने लूटते है। देश में सबसे ज्यादा नौटंकीबाज और भखचोंहर समाजसेवी भागलपुर में ही है। 10 वर्षो से सीएमएस उच्च विद्यालय में एक अनुसूचित जाति परिवार रोटी के लिए अनिश्चितकालीन सत्याग्रह पर है जिसे देखने वाला कोई नही,खंडपीठ,उपराजधानी,रेलवे मंडल कार्यलय,एम्स पर भारी पड़ा आज हवा हवाई। आईये घृणित समाजसेवीपन से उपर उठें ओर लोक संवेदनात्मक ग्राउण्ड गतिशीलता लायें। यथा लोकतंत्र के चतुर्थ स्तंभ स्वरूप राष्ट्रहित में नैतिक जिम्मवारी तहत हम ग्राउण्ड रिपोर्टिंग से अवगत कराते रहेंगे। ताकि लोकतंत्र रक्षार्थ जनभावना अहित होने से बचाई जा सकें।

संबंधित पोस्ट

अपना दल पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती अनुप्रिया पटेल से मानवाधिकार न्याय जन सेवा ट्रस्ट (नई दिल्ली) के अध्यक्ष ने की विशेस विषय पर की चर्चा !

Hindustanprahari

महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री अजित पवार और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा में घमासान

Hindustanprahari

गड्ढा मुक्त सड़क के लिए नागरिक विकास पार्टी ने चेताया सड़क ना बनने की सूरत में होगा घेराव।

Hindustanprahari

अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में सोनिया, राहुल गांधी की चुप्पी का क्या मतलब समझा जाये

Hindustanprahari

आज दिल्ली दौरे पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

Hindustanprahari

महाराष्ट्र में लगा वीकेंड लॉकडाउन , सिर्फ आवश्यक सेवाओं की रहेगी अनुमति

Hindustanprahari