ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ मनोरंजन

बच्चन का सम्मान

अमिताभ बच्चन का प्रसिद्ध संवाद है कि जहाँ हम खड़े हो जाते है लाइन वहीँ से लगती है. बॉलीवुड के महानायक का यह संवाद उनकी असल जिंदगी में भी सार्थक होता दिख रहा है. आज महनायक का स्थान कोई नहीं छू सकता. 11 अक्तूबर को इनके अस्सीवें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में पीवीआर ने आठ अक्टूबर से 11अक्तूबर तक अमिताभ बच्चन कि 11 बेहतरीन फिल्मों को पीवीआर में दिखाने का फैसला किया है. जो महानायक के प्रेमियों के लिए बेहद हर्ष का विषय है. जिसमें अमिताभ बच्चन की 11 फिल्मों को देश भर के सत्रह शहरों में दिखाया जायेगा. उन फिल्मों का नाम है – डॉन, काला पत्थर, कालिया, कभी कभी, अमर अकबर एंथनी, नमक हलाल, अभिमान, दीवार, मिली, सत्ते पे सत्ता और चुपके चुपके.

मुंबई के जुहू स्थित पीवीआर सिनेमा में अमिताभ बच्चन की यादगार वस्तुओं की विशेष प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी.

अमिताभ बच्चन ने इस जश्न के बारे में अपने विचार साझा करते हुए कहा, “मैंने कभी नहीं सोचा था कि ऐसा दिन भी देखने को मिलेगा जब मेरे शुरुआती करियर की फिल्में एक साथ देश भर के सिनेमाघरों में रिलीज होंगी. यह फिल्म हेरिटेज फाउंडेशन और पीवीआर की एक उल्लेखनीय पहल है. इससे न सिर्फ मेरे काम को सम्मान मिलेगा बल्कि मेरे निर्देशकों, साथी अभिनेताओं और उस समय के तकनीशियनों के काम को भी सराहा जाएगा. इस आयोजन की वजह एक ऐसे युग की वापसी होगी ‘जो चला गया है,
लेकिन भुलाया नहीं गया। यही कारण है कि भारत की फिल्म विरासत को सहेजना इतना महत्वपूर्ण है.

अमिताभ बच्चन भारत सरकार की ओर से पद्म भूषण, पद्मश्री और दादासाहेब फाल्के पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके हैं. आमिताभ बच्चन के पास कई अवॉर्ड है। उम्र के इस पड़ाव में भी उनका का क्रेज़ बरक़रार है. आज चार दशक के लोग उन्हें और उनकी कला को भलीभांति जानते हैं. आगामी दशक भी उनका ही होगा.
 – गायत्री साहू

संबंधित पोस्ट

प्रज्ञा कपूर ने अपने पिता की यादों को अंकित करने के लिए अपने हाथ पर टैटू बनवाया

Hindustanprahari

जीवनधारा संघ संस्था द्वारा कोविड योद्धा पोलीस सुरक्षा बल को सेनीटाइज,मास्क, एलोवीरा साबुन व एयर पलक वितरण

Hindustanprahari

इंडोनेशिया में सोना हुआ पाम-ऑयल, 1 लीटर की कीमत 22,000 रुपए! भारत पर भी पड़ रहा असर, 5-प्वाइंट में समझें

Hindustanprahari

‘मेरे सनम’ लॉन्च होते ही हुआ वायरल, वीडियो में दिखेंगे सिद्धार्थ निगम-सौम्या वर्मा

Hindustanprahari

विवेक रंजन अग्निहोत्री ने ट्विटर से बना ली दूरी। जाने क्यों ?

Hindustanprahari

केलॉग्स ने लॉन्च किया ‘प्रो-मूसली’

Hindustanprahari