ब्रेकिंग न्यूज़
शहर

समाज में विशिष्ट योगदान देने वाले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के हाथों सम्मानित

– संतोष साहू

मुंबई। दिनाँक 11 सितम्बर को राष्ट्रीय वन शहीद दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय समाचार पत्र गऊ भारत भारती और कर्नाला चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा राज भवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि प्राचीन काल से भारतीयों में जल संसाधनों, नदियों, पहाड़ों और जंगलों के प्रति पवित्रता और सम्मान की भावना रही है। हालांकि पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव से यह भावना कम होती जा रही है और पर्यावरण का हर जगह शोषण हो रहा है। कहीं-कहीं जंगल माफिया भी सक्रिय हैं। ऐसे समय में प्रकृति प्रेमी नागरिकों को पर्यावरण को बचाने के लिए अधिक योगदान देने की जरूरत है।
इस मौके पर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा स्वर्गीय डॉ. ब्रह्मशंकर व्यास द्वारा लिखित पुस्तक ‘गंगा महात्म्यम’ का विमोचन किया गया।
वन शहीद दिवस के अवसर पर राज्यपाल के हाथों वन एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य कर रहे विभिन्न क्षेत्रों के व्यक्तियों को पर्यावरण मित्र पुरस्कार तथा ‘गऊ भारत भारती विशेष सम्मान’ प्रदान किया। राज्यपाल के हाथों मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव विकास खड़गे को वन विभाग में उत्कृष्ट कार्य के लिए पर्यावरण मित्र पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
गऊ भारत भारती विशेष सम्मान से संजय मनोचा, डॉ. शगुन गुप्ता, पुनीत कुमार गुप्ता, पुनीत कुमार, हेमंत कुमार तांतिया (आईआरएस संयुक्त आयुक्त, जीएसटी), जितेंद्र कुमार सारंगी (ट्रस्टी केपीएस फाउंडेशन), मोनिका मीणा (एडवोकेट उच्च न्यायालय और के सेरा सेरा प्रोडक्शन लिमिटेड में निदेशक), निकेश ताराचंद शाह जैन, विशाल भगत, डॉ राजेश सी डेरे (फॉरेंसिक मेडिसिन विभाग के प्रमुख), अजय कौल (एकता मंच के अध्यक्ष), हिम बहादुर सोनार (पत्रकार, दार्जिलिंग), डॉ खालिद शेख (साई अस्पताल), डॉ विरल सखिया (प्राइड एडुकेयर लिमिटेड), आकाश शाह (पार्टनर, शाह इन्वेस्टमेंट्स) को सम्मानित किया गया। उसी अवसर पर प्रियांक शाह (बीइंग सेवक चैरिटेबल ट्रस्ट), वृंदा विजय लाठी, सुखादेव यादव, मणिकांत तिवारी, पंकज पांचाल, अधिवक्ता नंदिनी शहासाने और प्रेम कुमार को राज्यपाल ने सम्मानित किया। इस अवसर पर प्रमुख आयोजक संजय अमान का भी स्वागत राज्यपाल महोदय ने किया और उन्हें आशीर्वाद देते हुए उनके कार्यों की प्रसंसा की।
इस अवसर पर वन सेवा अधिकारी रंगनाथ नाइकडे ने वन शहीद दिवस पर अपना वक्तव्य रखा। कार्यक्रम के प्रमुख आयोजक गऊ भारत भारती के अध्यक्ष संजय अमान ने अंत में धन्यवाद ज्ञापन देते हुए सभी का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन प्रेम कुमार ने किया। यह कार्यक्रम गऊ भारत भारती और करनाला चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा आयोजित किया गया था।

संबंधित पोस्ट

मुंबई के माटुंगा रेलवे स्टेशन पर एक ही पटरी पर आई गदक और पुडुचेरी एक्सप्रेस, बड़ा हादसा टला

Hindustanprahari

मीरा-भायंदर में शुक्रवार को COVID-19 के 106 नए केस, 5 की मौत

Hindustanprahari

धूम्रपान करने वालों के खिलाफ मध्य रेल का व्यापक अभियान – 160 व्यक्ति पकड़े गए

Hindustanprahari

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राऊत के सीने में तेज दर्द, लीलावती अस्पताल में भर्ती

Hindustanprahari

अखिल भारतीय संस्था “काव्य सृजन ” का पंजीयन उत्सव अद्भुत और अनोखे अंदाज में संपन्न

Hindustanprahari

दैनिक राशिफल……31 जुलाई, 2020, शुक्रवार