ब्रेकिंग न्यूज़
बिज़नेस

लॉजिस्टिक कंपनी ‘पिकर’ ने 10 क्षेत्रीय भाषाओं में ऑर्डर प्रोसेसिंग की शुरू 

मुंबई : ई-कॉमर्स बिजनेसेस के लिए भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक और शिपिंग सॉफ्टवेयर पिकर टियर 2 और 3 शहरों के विक्रेताओं को सपोर्ट करने करने के लिए मराठी, हिंदी सहित 10+ क्षेत्रीय भाषाओं में ऑर्डर प्रोसेसिंग की पेशकश कर रहा है। यह नया फीचर नए युग के लोकल बिजनेस इनेबलर्स, हाइपरलोकल बिजनेस एग्रीगेटर्स और व्यक्तिगत हाइपरलोकल एप्लिकेशन को उनकी स्थानीय भाषाओं में ऑर्डर डिटेल्स (ग्राहक का नाम, पता आदि) स्वीकार करने की अनुमति देगा।

पिकर के सह-संस्थापक और सीईओ रितिमान मजूमदार ने कहा, “इस महामारी के दौरान ई-कॉमर्स उद्योग में भारी उछाल देखा जा रहा है, लेकिन भारत के टियर 2 और 3 शहरों के विक्रेता को इसका लाभ नहीं मिला है। मुख्य रूप से कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद भाषा अवरोधों के कारण मांग में कमजोरी महसूस कर रहे हैं। उनके व्यवसाय को निर्बाध रूप से संचालित करने और उन्हें विकास के लिए महत्वपूर्ण गति प्रदान करने में मदद करने के लिए हम उन्हें ऑर्डर डेटा इनपुट के लिए बिना किसी भाषा अवरोध के ऑर्डर प्रोसेसिंग की अनुमति दे रहे हैं। यह न केवल उन्हें अपने ग्राहकों के अनुभव को बढ़ाने और अतिरिक्त ऑर्डर प्राप्त करने की अनुमति देगा जो पहले संभव नहीं थे, बल्कि हमारे लिए भी बाजार के नए अवसर खोलेंगे।”

पिकर बड़ी मात्रा में बिक्री करने वाले ईकामर्स बिजनेसेस के साथ-साथ अपने वेयरहाउस / फुलफिलमेंट सर्विसेस के माध्यम से पे-पर-यूज़ मॉडल में छोटे वॉल्यूम ब्रांड्स में बेचने वालों के लिए लॉजिस्टिक्स और इन्वेंट्री सॉल्युशन को सुव्यवस्थित कर रहा है। लॉजिस्टिक्स सेवाओं को इन्वेंट्री के इंटेलिजेंट और डाइनामिक अलोकेशन से जोड़कर विक्रेता बेस्ट डिलीवरी टाइम तक पहुंच हासिल कर सकते हैं और औसत डिलीवरी टर्नअराउंड टाइम के साथ-साथ लगभग 20% तक कम करने के साथ-साथ अपनी ओवरऑल लॉजिस्टिक लागत को 10-30% तक कम कर सकते हैं। यह उन्हें केवल तभी भुगतान करने की अनुमति देता है जब वे अपना सामान शिप करते हैं।

संबंधित पोस्ट

हिपि के साथ मनोरंजन के भविष्य को ज़ी ने दिया आकार 

Hindustanprahari

कोविड मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा को इस कंपनी ने कर दी सस्ती

 लाभ के साथ बंद हुए सूचकांक

Hindustanprahari

छोटे किराना स्टोर्स के लिए शॉपमैटिक की मुफ़्त डिजिटल वेबस्टोर सुविधा

Hindustanprahari

ईटीएस ने भारत में बढ़ाई उपस्थिति

Hindustanprahari

ऋण के लिए लोनबाजार ऑनलाइन लांच हुआ

Hindustanprahari