ब्रेकिंग न्यूज़
हेल्थ

रतन टाटा के सहयोग से अर्जुन देशपांडे ने किया जेनरिक दवाओं का भव्य उद्घाटन

जेनरिक आधार ने उत्पादों के बेहतरीन पोर्टफोलियो तैयार कर विश्व स्तर पर जीत हासिल की

-सोलह राज्यों में विस्तार

अर्जुन देशपांडे का जेनेरिक आधार भारत के लगभग सोलह से अधिक राज्यों में, लगभग हजार से अधिक उत्पादों के साथ सफलता से आगे बढ़ रहा है।

-1000 से अधिक प्रोडक्ट शामिल

जेनेरिक आधार एक तेजी से बढ़ती भारतीय फार्मा कंपनी है “जो हर महीने सभी श्रेणियों में मेडिसिन प्रोडक्ट पोर्टफोलियो की विस्तृत श्रृंखला लॉन्च कर रही है, जिसमें लगभग 1000+ उत्पाद शामिल हैं”। इस इनोवेटिव वेंचर की शुरुआत 16 साल के युवा अर्जुन देशपांडे ने की है, जो भारत के सबसे कम उम्र के उद्योगपति हैं, जिन्होंने 2018 में ठाणे महाराष्ट्र से जेनेरिक आधार की स्थापना की थी और उद्योगपति आदरणीय श्री रतन टाटा द्वारा इस उद्योग को समर्थन और सहायता प्राप्त है।

-ग्राहकों को 80 से 90 प्रतिशत तक दवाइयों में लाभ

जेनेरिक आधार एक फार्मा उद्योग है जो दवाओं पर 80% – 90% तक की उच्चतम छूट प्रदान करता है, जो ग्राहकों के लिए फायदेमंद है और इसके परिणामस्वरूप जीवन रक्षक दवाओं की विभिन्न श्रेणियों पर लोगों का अतरिक्त धन खर्च कम हो जाता है।
देश भर में मांग के अनुसार नए उत्पादों के पोर्टफोलियो का मेगा लॉन्च भी किया जाता है ।

-प्रति महीने उच्च गुणवत्ता और सस्ती दवाइयों का लांच

जेनेरिक आधार एक तेजी से बढ़ती भारतीय फार्मा कंपनी है “जो हर महीने सभी श्रेणियों में मेडिसिन प्रोडक्ट पोर्टफोलियो की विस्तृत श्रृंखला लॉन्च कर रही है, जिसमें लगभग 1000+ उत्पाद शामिल हैं”। इस इनोवेटिव वेंचर की शुरुआत 16 साल के युवा अर्जुन देशपांडे ने की है, जो भारत के सबसे कम उम्र के उद्योगपति हैं, जिन्होंने 2018 में ठाणे महाराष्ट्र से जेनेरिक आधार की स्थापना की थी और उद्योगपति आदरणीय श्री रतन टाटा द्वारा इस उद्योग को समर्थन और सहायता प्राप्त है। जेनेरिक आधार एक फार्मा उद्योग है जो दवाओं पर 80% – 90% तक की उच्चतम छूट प्रदान करता है, जो ग्राहकों के लिए फायदेमंद है और इसके परिणामस्वरूप जीवन रक्षक दवाओं की विभिन्न श्रेणियों पर लोगों का अतरिक्त धन खर्च कम हो जाता है।
देश भर में मांग के अनुसार नए उत्पादों के पोर्टफोलियो का मेगा लॉन्च भी किया जाता है ।

1. प्रोटीन पाउडर + डीएचए (स्वप्रो डीएचए): डीएच प्रोटीन पावडर का उपयोग एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व के रूप में किया जाता है। प्रोटीन में उपस्थित मैक्रोन्यूट्रिएंट मांसपेशियों के निर्माण, ऊतक की मरम्मत और एंजाइम और हार्मोन बनाने में मदद करता है। प्रोटीन पाउडर के प्रयोग से वजन घटाने में भी मदद होती है और लोगों को उनकी मांसपेशियों को टोन करने में भी मदद मिलती है।

2. गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए शतावरी (वेनिला फ्लेवर) (स्वास प्रीगाकेयर) के साथ प्रोटीन पाउडर: यह गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं के नवजात शिशु को बेहतर पोषण प्रदान करती है। प्रेगा केअर में अतिरिक्त मात्रा में शतावरी तत्व मौजूद होता है। इस उत्पाद में प्राकृतिक तत्वों की भरपूर उपस्थित होती है। जो इसकी खूबी है।

3. विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम और मिनरल (इलाची फ्लेवर) (स्वास्थ्य प्रोटीन प्लस) के साथ प्रोटीन पाउडर: आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर एक पौष्टिक आहार पूरक है जो प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्युन सिस्टम) को सुदृढ़ बनाकर सम्पूर्ण स्वास्थ्य और शरीर को रोगों से सुरक्षित रखता है।

4. सोया प्रोटीन, दूध प्रोटीन, व्हे प्रोटीन और मल्टीविटामिन पाउडर (स्वास्थ्य न्युट्रा 26): प्रोटीन क्षतिग्रस्त मांसपेशियों और ऊतकों की मरम्मत में मदद कर सकता है प्रोटीन ऊर्जा का मुख्य स्रोत हैं और विभिन्न जैविक प्रक्रियाओं में आवश्यक भूमिका निभाते हैं। यह एक पूर्ण प्रोटीन पाउडर है, जिसका अर्थ है इसमें वे सभी अमीनो एसिड उपस्थित होते हैं जिनको मानव शरीर भोजन के रूप में ग्रहण करता है। डीएच प्रोटीन पाउडर एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व के पूरक का काम करता है। प्रोटीन एक आवश्यक मैक्रोन्यूट्रिएंट है जो मांसपेशियों के निर्माण, ऊतक की मरम्मत और एंजाइम और हार्मोन बनाने में मदद करता है। प्रोटीन पाउडर के प्रयोग से वजन घटाने में मदद मिलती है और लोगों को उनकी मांसपेशियों को टोन करने में भी यह मदद करता है।

5. प्रोटीन पाउडर शुगर फ्री (स्वास्थ्य प्रोटीन एसएफ): प्रोटीन रक्तचाप को कम करता है यह शुगर फ्री प्रोटीन पाउडर टाइप 2 मधुमेह के इलाज में मदद करता है।

6. विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम और मिनरल (चॉकलेट फ्लेवर) (स्वास्थ्य प्रोटीन) के साथ प्रोटीन पाउडर: प्रोटीन पावडर में विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम और मिनरल (चॉकलेट फ्लेवर) (स्वास्थ्य प्रोसोटिन) समाहित है।

-लॉक डाउन में सीधे रोजगार के अवसर प्रदान करती कंपनी

फार्मा वंडर किड समाज की भलाई के लिए एक बड़ा चेंज मेकर का काम करता है, जो फार्मा इंडस्ट्री को एक नए युग में लेकर जाता है। मार्च 2021 से लेकर अब तक इस लॉकडाउन और कोरोना महामारी के समय में जेनेरिक आधार ने उच्चतम रिकॉर्ड कायम करते हुए भारत के एक सौ तीस से ज्यादा शहर और सोलह से अधिक राज्यों में जेनरिक आधार की स्थापना कर बढ़त हासिल की है। लॉक डाउन की वजह से जहाँ लाखों लोगों को अपने काम से हाथ धोना पड़ गया। अलग अलग इंडस्ट्री से जैसे बैंक, रियल स्टेट, मीडिया, अस्पताल,आईटी और एसएम ई बिज़नेस आदि क्षेत्रों से नौकरियां जा रही है वहीं अर्जुन देशपांडे के जेनेरिक आधार कंपनी पूरे भारत में लोगों के लिए अनगिनत व्यवसाय, कैरियर और उद्यमिता के अवसर प्रदान कर रही है।

-युवा व्यवसायी अर्जुन देशपांडे की बेहतरीन सोच और आत्मविश्वास

जेनेरिक आधार के संस्थापक श्री अर्जुन देशपांडे ने कहा कि मैं स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ की हमने भारत के एक सौ तीस शहर और सोलह राज्यों में लगभग एक हजार से अधिक उत्पादों के पोर्टफोलियो का भव्य लांच किया है जो विभिन्न कैटेगरी से है जैसे कार्डियोलॉजी, एंटी डायबिटिक, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी, न्यूट्रास्यूटिकल्स, एंटी-बायोटिक्स, ऑन्कोलॉजी, पीडियाट्रिक्स, डर्मेटोलॉजी, गैस्ट्रोलॉजिक साइकोट्रोपिक और आर्थोपेडिक आदि। साथ ही, जेनेरिक आधार न केवल विभिन्न श्रेणियों की सत्यापित गुणवत्ता प्रदान कर रही है बल्कि दवाओं पर भी भारी छूट प्रदान कर रही है। इसके साथ साथ भारत के लोगों को हमारी फ्रेंचाइजी के माध्यम से नौकरी पाने के अवसर और उद्यमिता (व्यवसाय) भी प्राप्त हो रही है।

-प्रति महीने उच्च गुणवत्ता और सस्ती दवाइयों का लांच

अर्जुन का कहना है कि- हम यहां लोगों की भलाई के लिए है और भारतीय जनता से अपील करता हूँ कि वे सभी जेनेरिक दवाओं का चुनाव करें क्योंकी यह गुणवत्ता की दृष्टि से बेहतरीन है। सभी दवाइयों की गुणवत्ता सुरक्षा के लिहाज से जांच की गयी है, परीक्षण में मान्य होने के बाद यह प्रयोग में लायी गयी है और यह प्रभावी भी है। हम हर महीने नए प्रकार के अलग अलग श्रेणी के उत्पाद लांच करते रहते हैं। इस कोविड 19 वाइरस के संक्रमण काल में सभी को एक सबक मिला है कि “स्वास्थ्य से बड़ा कोई धन नहीं” हमारा ध्यान केवल उच्च मार्जिन द्वारा धन कमाने में नहीं है बल्कि हम अपना पूरा समय और ऊर्जा लोगों के जीत और उनकी भलाई में न्यौछावर करने में विश्वास रखते हैं। यही अर्जुन ने निष्कर्ष निकाला है।

-फेंचाइजी के माध्यम से लघु व्यवसायी को सीधे लाभ

जेनरिक आधार कंपनी का एक ही मिशन था कि प्रत्येक भारतीयों को दवाएं उप्लब्ध हो। एक सोलह वार्षिक बालक ने फार्मा इंडस्ट्री खोलने का लक्ष्य बनाया। उनकी आंखों में एक दृढ़ निश्चय था। इस छोटी सी उम्र में अर्जुन देशपांडे युवा उद्योगपति और जेनेरिक आधार के ऊर्जावान संस्थापक बने।आंकड़ों के आधार पर लगभग साठ प्रतिशत भारतीय लोग अपने दैनिक दवाइयों का बोझ वहन नहीं कर पाते। इसका मुखकारण बाजार में अकारण ही दवाइयों का महंगा होना है। जबकि बाजार में उपलब्ध 85 से 90 %दवाएं जेनेरिक है। ग्राहक को अकारण ही दवाओं के उच्च दाम चुकाने पड़ते हैं। क्यूंकि बाजार और ब्रांड इन्हें उच्च कीमत पर इसलिए बेचते है क्योंकि ये दवाओं की बिक्री के लिए विज्ञापन और मार्केटिंग में अधिक खर्च कर देते हैं। जिसकी क्षतिपूर्ति हेतु मार्केट में उत्पाद की लागत बढ़ जाती है। जिसका वहन ग्राहक को करना पड़ता है। बाजार के मार्केटिंग मॉडल से अलग जेनेरिक आधार ने पारंपरिक फार्मा उद्योग को बाधित कर दिया है और एकल स्टोर मालिकों को सशक्त बनाने और अंतिम ग्राहक को सीधे लाभ पहुँचाने का कार्य कर रहा है। जेनरिक आधार का B2B और B2C मॉडल है। आज पारंपरिक बाजारों में भारी प्रतिस्पर्धा के कारण छोटे उद्यमी की हालात खराब हो गयी है ऐसे उद्यमियों और एकल मेडिकल स्टोर को एकत्रित कर उन्हें जेनेरिक आधार की फेंचाइजी दी जा रही है। यह काम पूरे भारत में किया जा रहा है ताकि फेंचाइजी मालिकों को सीधे लाभ प्राप्त हो सके।

 

संबंधित पोस्ट

महिलाओं के लिए अलसी के फायदे

Hindustanprahari

फिर बना बहरूपिया कोरोना वायरस , नया वेरिएंट ही दूसरी लहर का कारण था

Hindustanprahari

कोरोना वैक्सीनः उत्पादन शुरू, आप तक कब पहुंचेगी वैक्सीन, पढ़ें पूरी खबर

घर पर ऐसे करें लकवाग्रस्त मरीजों का इलाज

Hindustanprahari

दांत हो रहे हैं खराब तो अब आपको घर बैठे डॉक्टर्स बताएंगे उपचार, बस करना होगा यह काम

EMN ने बताई वजह – आखिर क्यों नहीं मिल रहा कोविशील्ड को यूरोप का ‘वैक्सीन पासपोर्ट’?

Hindustanprahari