ब्रेकिंग न्यूज़
साहित्य

महानवमी पर्व पर विशेष काव्यसंध्या

साहित्यिक संस्था काव्यसृजन महिला मंच की महाराष्ट्र इकाई द्वारा महानवमी पर्व व विजयदशमी की पूर्व संध्या पर विशेष काव्य आयोजन किया गया। आनलाईन हुए इस आयोजन को अपने सशक्त संचालन से डॉ वर्षा सिंह उत्कृष्ट उचाइयाँ प्रदान की। मुख्य अतिथि शुचि शर्मा की गरिमामय उपस्थिति से आयोजन अपने चरमोत्कर्ष को प्राप्त किया। पुष्पलता जोशी की अध्यक्षता में देश के लब्धप्राप्त कवि कवयित्रियों अपने शब्दरूपी पुष्प माता के चरणों में अर्पित किया।
एक से बढ़कर एक सुन्दर रचनाओं से इस काव्य संध्या को महकाने वाले कवि पं.शिवप्रकाश जौनपुरी, श्रीधर मिश्र, माता प्रसाद शर्मा, मोतीलाल बजाज, शारदाप्रसाद दूबे, मनिन्दर सरकार, कवयित्री पूनम शर्मा, पुष्पलता जोशी, शुचि शर्मा, डॉ वर्षा सिंह , मंजुला श्रीवास्तव, नम्रता श्रीवास्तव आदि रही/रहे।
मुख्य अतिथि शुचि शर्मा ने आयोजन की व संस्था के कार्य की सराहना किया और कहा साहित्यिक उत्थान के लिए ऐसे आयोजन कर काव्यसृजन परिवार हिन्दी की उन्नति में अनुपमीय कार्य कर रहा है। इसके लिए काव्यसृजन परिवार को साधुवाद। अध्यक्षीय उद्बोधन में आदरणीया पुष्पलता जोशी ने संचालन नियोजन आयोजन की सराहना करते हुए सभी रचनाकारों की रचना व प्रस्तुती पर संक्षिप्त प्रकाश डाला। अंत में संस्था के उपाध्यक्ष आदरणीय श्रीधर मिश्र ने सभी का आभार प्रकट करते हुए वंदन अभिनंदन किया।

संबंधित पोस्ट

पूजाश्री निर्भीकता से अपनी लेखनी से समाज की कुरीतियों, नीतियों पर प्रहार करने से भी नहीं चूकतीं

Hindustanprahari

मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस की प्रस्तुति “अभिव्यक्ति”

Hindustanprahari

एन, जी, ओ, महिमा – मार्कण्डेय त्रिपाठी (कवि)

Hindustanprahari

‘आशा के पल’ कार्यक्रम का आयोजन सम्पन्न

Hindustanprahari

भारत की खुशहाली

Hindustanprahari

दोहरा चरित्र – मार्कण्डेय त्रिपाठी (कवि)

Hindustanprahari