ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़

 ‘बधाई हो’ की दादी नहीं रहीं, अभिनेत्री सुरेखा सिकरी का 75 की आयु में निधन

 

‘बालिका वधु’ की दादी सा सुरेखा सिकरी का निधन हो गया .’बधाई हो’ जैसी फिल्मों और टीवी सीरियल में इन्होंने यादगार रोल निभाये हैं और तीन बार नेशनल अवॉर्ड जीत चुकी है. सुरेखा सिकरी लंबे समय से बीमार चल रही थीं. 2020 में उन्हें ब्रेन स्ट्रोक भी हुआ है.

टीवी की दिग्गज अदाकारा सुरेखा सिकरी का 75 साल की उम्र में निधन हो गया है. उनके मैनेजर ने बताया है कि उनका निधन हार्ट अटैक से हुआ है. ये अभिनेत्री लम्बे समय से बीमार थीं. 2018 में वो लकवे का शिकार हुईं थीं और 2020 को उन्हें ब्रेन स्ट्रोक हुआ था.

निधन के बाद उनके मैनेजर ने बयान जारी करते हुए बताया, ”हार्ट अटैक आने से आज सुबह सुरेखा सिकरी का 75 साल की उम्र में निधन हो गया. दूसरी बार ब्रेन स्ट्रोक की वजह से वो बीमार चल रही थीं. अपने आखिरी वक्त में सुरेखा सिकरी अपने परिवार के साथ थीं. उनका परिवार दुख की इस घड़ी में अपने लिए प्राइवेसी चाहता है. ओम साईं राम.”

सुरेखा सिकरी को तीन बार नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका है. उन्हें फिल्म तमस 1988, Mammo (1995) और बधाई हो (2018) के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड दिया गया था.

सुरेखा सिकरी ने बधाई हो और बालिका वधु जैसी कई हिट और पॉपुलर फिल्मों, सीरियल में यादगार रोल निभाए हैं. आखिरी बार सुरेखा सिकरी फिल्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई फिल्म गोस्ट स्टोरीज़ में नज़र आईं थीं.

उत्तर प्रदेश में जन्मी सुरेखा ने अपना बचपन अल्मोरा और नैनीताल में बिताया. इस एक्ट्रेस ने अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी से पढाई की. इसके बाद उन्होंने दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा ज्वाइन किया. सुरेखा को 1989 में Sangeet Natak Akademi Award भी मिल चुका है.

सुरेखा सिकरी के पिता एयरफोर्स में थे और उनकी मां अध्यापक थीं. उनकी शादी Hemant Rege से हुई थी जिससे उनका एक बेटा राहुल सिकरी हैं. राहुल सिकरी मुंबई में हैं और आर्टिस्ट हैं.

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह रिश्ते में सुरेखा सिकरी के बहनोई (Brother-in-Law) लगते हैं. सुरेखा की बहन मनारा सिकरी ने नसीरुद्दीन की पहली शादी हुई थीं.

ज्यादातर फेम सुरेखा सिकरी को दादी के किरदारों से मिला.बालिका वधु में सुरेखा सिकरी ने दादी सा (कल्याणी देवी धर्मवीर सिंह) का किरदार निभाया जिसमें उन्हें खूब पसंद किया गया. ये सीरियल 2008 से 2016 तक ऑन एयर रहा. इसके अलावा परदेस में है मेरा दिल, सीआईडी, सात फेरे, बनेगी अपनी बात जैसे कई धारावाहिकों में उन्हें दादी के यादगार रोल्स किए.

फिल्मों में उन्होंने किस्सा कुर्सी का से 1978 में डेब्यू किया. इसके बाद वो तमस (1986), लिटिल बुद्धा (1993), Mammo (1994), नसीम Naseem (1995), सरफरोश, दिल्लगी (1999), जुबैदा (2001), तुम सा नहीं देखा (2004) Dev.D (2009), हमको दीवाना कर गए (2006) और बधाई हो (2018) जैसी बहुत सारी फिल्मों में नज़र आईं.

संबंधित पोस्ट

कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले मरीज 20 – 30 फीसदी लोग 6 महीने मे ही खो रहे नेचुरल इम्युनिटी

Hindustanprahari

एकनाथ शिंदे ने ली महाराष्ट्र मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी CM

Hindustanprahari

दानिश अल्फ़ाज़, मुस्कान शर्मा की ‘रफ्ता रफ्ता’ रिलीज होते ही ट्रेंडिंग 

Hindustanprahari

मुम्बई में होगा ‘गऊ ग्राम महोत्सव’ द फेस्टिवल ऑफ काऊ का आयोजन

Hindustanprahari

‘मौसम’ में शर्मिला टैगोर और ‘ब्लैक’ में रानी मुखर्जी की अभिनय प्रतिभा से प्रभावित है इंद्राणी तालुकदार

Hindustanprahari

मार्कण्डेय त्रिपाठी की पंक्ति “वर्षा ऋतु”

Hindustanprahari