ब्रेकिंग न्यूज़
मनोरंजन

पापोन का नया गाना ‘हाते हात धोरी’ हुआ रिलीज़

पापोन के माता पिता के शाश्वत प्रेम को समर्पित है यह गाना

मुम्बई। बारिश के इस मौसम में गायक पापोन ‘हाते हात धोरी’  नामक एक रोमांटिक सॉन्ग लेकर आए हैं। इस आसामी लव सॉन्ग को उन्होंने अपने माता पिता और असम के मशहूर संगीत जोड़ी अर्चना और खगेन महंत को समर्पित किया है। प्रसिद्ध गायक खगेन महंत की 7वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में इस आसामी गाने को बारिश के इस मौसम में रिलीज़ किया गया है। सजदा करूं, डांस इट आउट, पार होबो ऐ शोमोय, नीलांजोना और हाय रब्बा जैसे गीतों के निर्माण / प्रतिपादन करने के बाद, इस बहुमुखी कलाकार ने इस प्रेम गीत को स्वरबद्ध किया है।

मुकुंदा सैकिया द्वारा लिखित और होपुन सैकिया द्वारा रचित पापोन का यह गीत एक स्वतंत्र एकल है जो पुराने ज़माने के रोमांस और प्यार में रहने के विचार को रेखांकित करता है। इस गाने के म्यूज़िक वीडियो में एक ऐसे बुजुर्ग जोड़े की प्रेम कहानी को दर्शाया गया है जो एक दूसरे के साथ प्यार में हैं और इस प्यार के साथ वे जीवन की प्रेमयात्रा को तय कर चुके हैं। उनकी इस उम्र और हालात में प्यार इस तरह खिल कर बाहर आता है जिसे बयान करने के लिए शब्दों की आवश्यकता नहीं है और यही इस पारंपरिक रोमेंटिक सॉन्ग को अलग बनाता है।

पापोन का कहना है कि हाते हात धोरी गाने के मेलोडी, लिरिक्स और विजुअल में जिस तरह का प्यार कैप्चर किया गया है जिसकी अभिलाषा हर किसी को है। यह गाना मैंने अपने माता पिता को समर्पित किया है जिन्होंने 50 साल तक साथ में गाने गाएं और अपना पूरा जीवन संगीत को अर्पित कर दिया। यह एक बहुत ही प्यारी रचना है और यह बिना किसी दिखावे के शाश्वत प्रेम का संदेश देता है और यही इस गाने की खूबसूरती है। मैं इस गाने के प्रति लोगों के विचार जानने के लिए उत्सुक हूं।

मुकुंदा सैकिया द्वारा लिखित, पापोन द्वारा स्वरबद्ध और होपुन सैकिया द्वारा रचित ‘हाते हात धोरी’ अब सभी के लिए उपलब्ध है।

संबंधित पोस्ट

लंदन में भारतीय बिजनेसमैन रॉनी रोड्रिग्ज ने धूमधाम से मनाया अपना जन्मदिन, मुम्बई से अपने स्टाफ को भी ले गए साथ 

Hindustanprahari

‘टॉकीज’ ओटीटी प्लेटफॉर्म की दिल्ली में शानदार लॉन्चिंग

Hindustanprahari

मकर संक्रांति के अवसर पर केसीएफ एंटरटेनमेंट मैगज़ीन का कवर लांच

Hindustanprahari

‘प्रेमगीत 3’ का टीजर हुआ जारी, ट्रेलर 1 सितंबर को होगा रिलीज

Hindustanprahari

सुजानगंज के प्रमोद गुप्ता ने हासिल की ऐतिहासिक उपलब्धि

Hindustanprahari

‘द कन्वर्जन’ में वर्तमान भारत की संवेदनशील कहानी है : विनोद तिवारी

Hindustanprahari