ब्रेकिंग न्यूज़
देश-विदेश

नेशनल जियोग्राफीक ने कहा धरती पर पांचवा महासागर है

दुनिया हैरानअंगेज है. इस बार तो धरती का नक्शा ही बदल गया. धरती पर मिला पांचवां महासागर

महासागर जलमंडल का प्रमुख भाग है. यह खारे पानी का विशाल क्षेत्र है. यह जलमंडल का 96.6भाग अपने आप से ढांके रहता है (लगभग ३६.१ करोड वर्ग किलोमीटर). जिसका आधा भाग ३००० मीटर गहरा है।संपूर्ण पृथ्वी के तीन चौथाई भाग ( 70.8 % )पर जल का तथा एक चौथाई भाग ( 29.2 % )पर स्थल का विस्तार पाया जाता है. पृथ्वी के कुल क्षेत्रफल ( 51.00 करोड़ वर्ग किमी. ) के 36.17  करोड वर्ग किमी पर जलमंडल ( महासागर ) तथा 14.89 करोड़ वर्ग किमी पर स्थल मंडल (महाव्दीप ) का विस्तार मिलता है.

प्रमुख महासागर निम्नलिखित हैं :

१ प्रशान्त महासागर (en:Pacific Ocean)

२ अटलांटिक महासागर (en:Atlantic Ocean)

३ हिन्द महासागर (en:Indian Ocean)

४ आर्कटिक महासागर (en: Arctic Ocean )

५ दक्षिण महासागर (en: Southern Ocean

हम सभी जानते हैं कि धरती (Earth) का 75% हिस्सा पानी में डूबा हुआ है. हमारी धरती सात महाद्वीपों (seven continents) और चार महासागर (Four Ocean) के साथ जीवन का आधार बानी हुई है. लेकिन भौगोलिक विज्ञान ने अब इस मानचित्र में एक नया अध्याय जोड़ दिया है. नैशनल जियोग्राफिक के अनुसार महासागर चार नहीं बल्कि पांच (Fifth Ocean of the World) हैं. नैशनल जियोग्राफिक ने कहा है कि अंटार्कटिका के पास दक्षिणी महासागर (Southern Ocean of Antarctica) भी अपने आप में एक अलग महासागर है.

नैशनल जियोग्राफिक सोसायटी जियोग्राफर (National Geographic Society Geographer) अलेक्स टेट (Alex Tate) ने बताया कि अब तक वैज्ञानिक अंटार्कटिका दक्षिणी महासागर को अलग यानी पांचवा महासागर मानते रहे हैं लेकिन कभी अंतरराष्ट्रीय सहमति नहीं बन पाई जबकि दुनिया का यह अलग हिस्सा बहुत खास है और उसे आर्कटिक, अटलांटिक, हिंद और प्रशांत महासागर के साथ जगह मिलनी चाहिए.

संबंधित पोस्ट

कान में भी पहुंच सकता है कोरोना वायरस, रिसर्च में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

गोरखपुर की जनता को भरोसा, भारी मतों से फिर आयेंगे योगी आदित्यनाथ

Hindustanprahari

कोरोना के एक्टिव केस 83 दिनों में निचले स्तर पर, पीक से 80 फीसदी कम हुए मामले – Hindustan Prahari

Hindustanprahari

पुणे और कानपुर सेंट्रल के बीच 18 साप्ताहिक स्पेशल ट्रेनें

Hindustanprahari

बिहार विधान परिषद निर्वाचन में समाचार संकलन हेतु पत्रकारों को जारी होगा निर्वाचन प्राधिकार पत्र

Hindustanprahari

मार्कण्डेय त्रिपाठी की पंक्ति “हिंदी दिवस”

Hindustanprahari