ब्रेकिंग न्यूज़
देश-विदेश

नेतन्याहू का बारह वर्षों का शासन काल हो जाएगा खत्म

 

प्रधानमंत्री नेतन्याहू का राजनीतिक समय संकट में घिरा हुआ है. वे कोरोना काल में भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे हैं. जिसके कारण इजराइली संसद के अध्यक्ष ने नई सरकार के गठन को लेकर आज मतदान कराने की घोषणा की है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का 12 साल का शासन खत्म हो जाएगा. नेतन्याहू के सहयोगी और संसद अध्यक्ष यारीव लेविन ने मंगलवार को मतदान की तारीख और समय की घोषणा की थी.

नई सरकार बनाने के लिए आठ राजनीतिक दलों के बीच हुए गठबंधन से इजराइल का राजनीतिक परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया है. 120 सदस्यों वाली संसद नीसेट में गठबंधन के पास सरकार बनाने के लिए बहुमत से कुछ ही अधिक सदस्यों का समर्थन है. गठबंधन को तोड़ने के लिए नेतन्याहू के समर्थकों ने संसद सदस्यों के घरों के बाहर विरोध प्रदर्शन करने के अलावा उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी, लेकिन इसके बावजूद गठबंधन सरकार बनाने को लेकर प्रतिबद्ध है.

नेतन्याहू ने अपने पूर्व दक्षिणपंथी सहयोगियों पर वामपंथियों और अरब पार्टी के साथ गठबंधन करने के लिए विश्वासघात करने का आरोप लगाया है. गठबंधन के नेताओं के बीच हुए समझौते के मुताबिक नेतन्याहू के पूर्व सहयोगी और अतिराष्ट्रवादी नेता नाफतली बेनेट शुरुआती दो साल के लिए प्रधानमंत्री बनेंगे. इसके बाद याइर लेपिड प्रधानमंत्री का कार्यभार संभालेंगे, जिन्हें गठबंधन का प्रमुख रणनीतिकार माना जा रहा है. लेपिड ने संसद अध्यक्ष को धन्यवाद देते हुए कहा, “गठबंधन सरकार आगे बढ़कर इजराइल के लोगों के लिए काम करने को तैयार है.”

पिछले दो सालों से भी कम समय के दौरान इजराइल में चार बार आम चुनाव हो चुके हैं. नेतन्याहू को पद पर बने रहना चाहिए या नहीं, इसको लेकर लोगों के विचार काफी बंटे हुए हैं. नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं, जिसकी जांच चल रही है. कोविड-19 महामारी के कारण पिछले साल आपातकालीन सरकार का गठन किया गया था. राजनीतिक मतभेदों के कारण वह सरकार दिसंबर में ही गिर गयी थी. इसके बाद मार्च में हुए चुनाव के बाद नेतन्याहू सरकार बनाने में विफल रहे थे. इजराइल में सत्ता परिवर्तन समेत अन्य राजनीतिक हलचल ऐसे समय में हो रही हैं जब हाल में यरुशलम में फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों और इजराइली पुलिस के बीच 11 दिनों तक हिंसक झड़पें हुईं थीं.

 

संबंधित पोस्ट

अच्छी खबर: मौसम विभाग का अनुमान, इस साल सामान्य रहेगा मानसून

Hindustanprahari

गोरखपुर ललित नारायण मिश्र रेलवे हॉस्पिटल में 500 लीटर ऑक्सीजन प्लांट का हुआ उद्घाटन।

Hindustanprahari

अफगानिस्तान के बिगड़े हालात, तालिबान कर रहा कंधार पर कब्जे की कोशिश

Hindustanprahari

क्यों मनाई जाती है अंबेडकर जयंती? जानें महत्व और इतिहास

Hindustanprahari

गोवा की पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा का निधन, मोदी, बीजेपी नेताओं ने जताया शोक

Hindustanprahari

कोरोना वैक्सीनः उत्पादन शुरू, आप तक कब पहुंचेगी वैक्सीन, पढ़ें पूरी खबर