ब्रेकिंग न्यूज़
देश-विदेश ब्रेकिंग न्यूज़

नीतीश कुमार के शपथग्रहण समारोह से तेजस्वी यादव ने बनाई दूरी, जानें क्यों नहीं जाएंगे राजभवन

विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद नीतीश कुमार आज सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने जा रहे हैं। उनके साथ कई और मंत्री भी पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए शपथग्रहण कार्यक्रम को राजभवन में आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी पटना पहुंच रहे हैं।

हालांकि इस कार्यक्रम में बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार रहे तेजस्वी यादव शामिल नहीं होंगे। आरजेडी की तरफ से कहा गया है, ‘राजद शपथ ग्रहण का बायकॉट करती है। बदलाव का जनादेश NDA के विरुद्ध है। जनादेश को ‘शासनादेश’ से बदल दिया गया। बिहार के बेरोजगारों,किसानो, संविदाकर्मियों, नियोजित शिक्षकों से पूछे कि उनपर क्या गुजर रही है।NDA के फर्ज़ीवाड़े से जनता आक्रोशित है। हम जनप्रतिनिधि है और जनता के साथ खड़े है।’

आपको बता दें कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए को इस विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत मिला है। एनडीएम में शामिव बीजेपी, जेडीयू, जीतनराम मांझी का HAM और वीआईपी मिलकर बिहार में एक नई सरकार का गठन करने जा रही है। हालांकि इसबार की सरकार का चेहरा बदला नजर आएगा। 2005 से अबतक बिहार में नीतीश कुमार के साथ एनडीए सरकार का हिस्सेदार रहे सुशील मोदी को इसबार उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत 15 लोगों को राज्यपाल फागू चौहान द्वारा आज  शाम साढ़े चार बजे शपथ दिलाए जाने की संभावना है। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक नई सरकार के इस पहले शपथ ग्रहण समारोह में जो नेता शपथ लेंगे उनमें छह जदयू, छह भाजपा और एक-एक हम और वीआईपी से होंगे। कयासों पर भरोसा करें तो सीएम समेत 15 नेताओं के शपथ की भी चर्चाएं हैं। ऐसी स्थिति में भाजपा और जदयू से छह-छह लोगों का शपथ होगी। बताया गया कि शपथ ग्रहण समारोह राजभवन में होगा।

इनको मिल सकती है नीतीश कैबिनेट में जगह
हालांकि, मंत्रिमंडल के स्वरूप और सोमवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह को लेकर मुख्यमंत्री आवास में शाम साढ़े छह बजे से लेकर देर रात तक मंथन का दौर जारी रहा। इस मंथन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा भाजपा नेता देवेन्द्र फडणवीस, भूपेन्द्र यादव, संजय जायसवाल, नागेन्द्र जी, तारकिशोर प्रसाद जबकि जदयू नेता विजय कुमार चौधरी और आरसीपी सिंह मौजूद रहे। जानकारी के अनुसार जदयू से नीतीश कुमार मुख्यमंत्री जबकि बिजेन्द्र प्रसाद यादव मंत्री, वीआईपी से मुकेश सहनी जबकि हम प्रमुख जीतन राम मांझी के पुत्र एमएलसी डॉ. संतोष सुमन मंत्री पद की शपथ लेंगे।

वहीं, भाजपा से तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी का शपथ लेना तय माना जा रहा है। अगर अधिक की संख्या पर मुहर लगी तो भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार, नंदकिशोर यादव, मंगल पांडेय, जदयू के श्रवण कुमार, नरेन्द्र नारायण यादव, महेश्वर हजारी आदि भी शपथ ले सकते हैं। इसके अलावा एक-दो नाम चौंकाने वाले भी हो सकते हैं।

निकट भविष्य में होगा मंत्रिमंडल का विस्तार 
विश्वस्त सूत्रों की मानें तो एनडीए की नई सरकार का पहला शपथ ग्रहण समारोह फिलहाल छोटे स्वरूप में होगा। सीएम समेत 14 मंत्रियों को शपथ दिलाने के बाद निकट भविष्य में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। अधिकतम 36 मंत्री हो सकते हैं। विधायकों की संख्या के लिहाज से भाजपा को सबसे अधिक 20-21 जबकि जदयू को सीएम समेत 13-14 मंत्री मिलेंगे।

संबंधित पोस्ट

Hindustan Prahari e-paper 22 March to 28 March 2022

Hindustanprahari

जनता की सुविधा के लिए अनारक्षित गाड़ियों का 20 मई से होगा परिचालन। कोविड मानकों का होगा पालन।

Hindustanprahari

मार्कण्डेय त्रिपाठी पंक्ति “राजा भोज और कालिदास”

Hindustanprahari

नेतन्याहू का बारह वर्षों का शासन काल हो जाएगा खत्म

Hindustanprahari

अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म ‘सम्राट पृथ्वीराज’ का होगा वर्ल्ड टेलीविज़न प्रीमियर!

Hindustanprahari

‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ – महिला सशक्तिकरण का उदाहरण या महिमामंडन !

Hindustanprahari