ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़ मनोरंजन

केप ऑफ गुड फिल्म्स बैनर से दर्शकों को मिल रहा है बेहतरीन सिनेमा

– संतोष साहू

पिछले छह वर्षों में अक्षय कुमार और राणा राकेश बाली की केप ऑफ गुड फिल्म्स कंपनी ऐसी सुपरहिट फिल्में बनाने में अपना योगदान दे रही है जो अर्थपूर्ण के साथ साथ व्यावसायिक भी हो।

कई सफल फिल्मों के पोस्टर पर अपने प्रतीक चिन्ह के साथ चुपचाप से बैठे “केप ऑफ गुड फिल्म्स” के पास पिछले कुछ वर्षों में प्रोडक्शन हाउस की सफलता के साथ आगे भी गर्व करने के लिए बहुत कुछ है। 2009 में स्थापित, इस बुटीक कंटेंट हाउस ने ऐसी फिल्में बनाने के लिए काम करना शुरू कर दिया जो अर्थपूर्ण हैं, फिर भी व्यावसायिक हैं।

कंपनी के पार्टनर राणा राकेश बाली कहते हैं, “हर कहानी को सिनेमा के माध्यम से बताया जा सकता है, बशर्ते यह है आप जिन दर्शकों के लिए फिल्म बना रहे हैं, उन्हें ध्यान में रखते हुए संवेदनशील व्यवहार करे। कोई भी थिएटर में अपनी मेहनत की कमाई देकर, सबक सिखने के लिए नहीं आता, यदि आप कुछ गंभीर कहना चाहते हैं, तो उसे इस तरह से कहें जिससे दर्शक मुस्कुराते हुए भी मुद्दा समझ लें। और यही केप ऑफ गुड फिल्म्स का मंत्र है।

पिछले छह वर्षों में, एयरलिफ्ट (2016), टॉयलेट: एक प्रेम कथा (2017) और मिशन मंगल (2019) से लेकर राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता और समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्में जैसे रुस्तम (2016) पैडमैन (2018), चुम्बक (2017) , व्यावसायिक ग्रॉसर्स फिल्में केसरी, गुड न्यूज (दोनों 2019) और 2021 की सबसे बड़ी हिट सूर्यवंशी – सब केप ऑफ गुड फिल्म्स के तहत थी ।

केप की पाथ ब्रेकिंग फिल्मों में नाम शबाना (2017) और दुर्गमती: द मिथ (2020) भी शामिल हैं, जिन्हें मजबूत महिला नायक द्वारा निभाया गया। इस कंपनी की फिल्म लक्ष्मी (2020) और हाल ही में रिलीज़ हुई अतरंगी रे (2021) भी ओटीटी प्लेटफार्मों पर सारे रिकॉर्ड तोड़कर सबसे ज्यादा देखी जाने वाली फिल्में साबित हो रही है। इतना ही नहीं तो संगीत वीडियो के निर्माण में भी फिलहाल और फिलहाल 2 के रिकॉर्ड्स की बात करे तो इंडस्ट्री में यह उच्चतम स्थान पर विराजमान है।

बाली आगे कहते है कि केप के बारे में जो बात सबसे अलग है वह यह है कि इसका कोई चेहरा नहीं है। “यह सिर्फ एक टीम है, वह ऐसा ही कुछ बनाने की कोशिश कर रही है जिसमें वे विश्वास करती हैं और इसे उसी तरह रखना चाहते हैं। हमारी भावना यह है कि हम जो भी फिल्में बनाते हैं वे एक व्यक्ति और एक इकाई से बड़ी होती हैं, और इसे ऐसेही संरक्षित किया जाना चाहिए।

यह कंटेंट हाउस अब रक्षा बंधन, राम सेतु और ओह माय गॉड 2 जैसी लोकप्रिय फिल्मों को पेश करने के लिए तत्पर है। यह 2022 में एक दृढ़ विश्वास के साथ प्रवेश करता है और ऐसी सामग्री का समर्थन करता है जो रूढ़ियों को तोड़ती है, धारणाओं को चुनौती देती है और दर्शकों को फिल्मों से और अधिक प्यार करने के लिए उत्साहित करती है।

संबंधित पोस्ट

‘अमृत बाणी’ श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का संपूर्ण संग्रह

Hindustanprahari

ब्रह्मकुमारी संस्था आयोजित पांच दिवसीय राष्ट्रीय मीडिया परिषद में माउंट आबू पहुंचेंगे असंख्य पत्रकार

Hindustanprahari

शांतनु ने एलेना टुटेजा से किया वादा निभाया

Hindustanprahari

स्टेशनों पर होगी वीडियो सर्विलांस से निगरानी। पहले चरण में 756 प्रमुख स्टेशनों पर होगी शुरुवात।

Hindustanprahari

यूपी कैबिनेट ने प्रदेश को श्री चित्रकूट और श्री विंध्य धाम विकास परिषद के गठन की दी मंजूरी

Hindustanprahari

नंगे पैर चलकर आये पद्मश्री सम्मान लेने 126 साल के स्वामी शिवानंद

Hindustanprahari