ब्रेकिंग न्यूज़
बिज़नेस

कांडला रिफाइनरी के परिचालन के साथ इमामी एग्रोटेक का 2025 तक 25,000 करोड़ रुपये के कारोबार का लक्ष्य

कांडला, उत्तर और पश्चिम बाजारों में ईएएल की उपस्थिति को मजबूत करेगा और अपनी अखिल भारतीय पहुंच को भी पुख्ता करेगा

कंपनी की कुल खाद्य तेल उत्पादन क्षमता बढ़कर 12000 टीपीडी से अधिक पर पहुंची

हल्दिया, कृष्णापट्टनम और जयपुर रिफाइनरियों के बाद कांडला चौथी इकाई है

मुंबई : वर्ष 2025 तक 25,000 करोड़ रुपये के अपने व्यापार कारोबार के लक्ष को हासिल करने के उद्देश्य से, व्यापार समूह इमामी एग्रोटेक लिमिटेड, इमामी समूह की खाद्य और जैव-डीजल इकाई ने कांडला, गुजरात में अपने नए संयंत्र से खाद्य तेल का उत्पादन शुरू किया है. नया संयंत्र खाद्य तेल और खाद्य खंड में एक प्रमुख राष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में कंपनी के रोडमैप को मजबूत करने और अपने व्यापार लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. 3200 टन प्रति दिन (टीपीडी) की उत्पादन क्षमता वाली कांडला रिफाइनरी, हल्दिया, कृष्णापट्टनम और जयपुर के बाद भारत में कंपनी की चौथी उत्पादन इकाई है.

कांडला संयंत्र की शुरुआत, इमामी एग्रोटेक लिमिटेड की कुल खाद्य तेल उत्पादन क्षमता को 9000 टीपीडी की अपनी पूर्व क्षमता से 12,000 टीपीडी तक ले जाने में कारगर साबित होगी. इमामी एग्रोटेक अपनी कांडला रिफाइनरी से रिफाइंड पाम तेल, रिफाइंड सोयाबीन तेल और वनस्पति तथा बेकरी वसा जैसे मूल्य वर्धित उत्पादों का उत्पादन करेगी.

इस अवसर पर इमामी ग्रुप के निदेशक आदित्य वी. अग्रवाल ने कहा, “तुलनात्मक रूप से एक युवा कंपनी, इमामी एग्रोटेक लिमिटेड 11 साल पहले अपनी यात्रा शुरू करने के बाद से एक गतिशील और आक्रामक व्यापार रणनीति का पालन कर रही है. कांडला संयंत्र की शुरुआत हमारे लिए एक बड़ा कदम है क्योंकि हमारा लक्ष्य राष्ट्रीय स्तर पर खुद को और मजबूत करना है.

हम 2025 तक 25,000 करोड़ रुपये के अपने व्यापार लक्ष्य को प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, क्योंकि हम अगले 3 वर्षों में लगभग 1000-1500 करोड़ रुपये के कुल व्यापार निवेश के साथ नई श्रेणियों में प्रवेश करना जारी रखेंगे ताकि देश के एक अग्रणी खाद्य ब्रांड के रूप में उभर सकें.”

इस अवसर पर इमामी ग्रुप के निदेशक मनीष गोयनका ने कहा, “यह 600 करोड़ रुपये की ग्रीनफील्ड परियोजना कांडला में लगभग 54 एकड़ के भूमि क्षेत्र में बनी है, जो कोविड महामारी के चुनौतीपूर्ण समय के बीच 1.5 साल के रिकॉर्ड समय में संचालन शुरू करने के लिए पूरी हुई है. इससे हमें उत्तरी और पश्चिमी क्षेत्र में व्यापक उपभोक्ता आधार तक पहुंचने में मदद मिलेगी. यूरोपीय आपूर्तिकर्ताओं से प्राप्त मशीनरी के साथ, इस संयंत्र में भारतीय खाद्य तेल उद्योग में कुछ सबसे उन्नत स्वचालन इस्तेमाल किया गया है. यह पूरे कांडला क्षेत्र में एकमात्र खाद्य तेल संयंत्र है, जिसकी बंदरगाह से सीधी पाइपलाइन पहुंच होने की वजह से यह महत्वपूर्ण रसद और लागत लाभ प्रदान करता है.

इस सुविधा से हम अपने खाद्य तेल ब्रांड इमामी हेल्दी एंड टेस्टी और हिमानी बेस्ट चॉइस, वनस्पति ब्रांड रसोई और स्पेशलिटी फैट ब्रांड बेक मैजिक के तहत उत्पादों का निर्माण करेंगे. हम खाद्य तेल निर्माण के क्षेत्र में नवीनतम विनिर्माण प्रौद्योगिकियों का उपयोग करके महत्वपूर्ण उत्पादन मात्रा में वृद्धि कर इस परियोजना में पैमाने की अर्थव्यवस्थाओं को अधिकतम करने का इरादा रखते हैं.”

इमामी एग्रोटेक लिमिटेड की कांडला परियोजना लगभग 2000 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियों का कुल रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएगी.

इमामी एग्रोटेक लिमिटेड सरसों, सूरजमुखी, सोयाबीन, पामोलिन और राईस ब्रान और अन्य मिश्रित तेलों जैसे खाद्य तेलों की एक विस्तृत श्रृंखला बनाती है. हेल्दी एंड टेस्टी, खाद्य तेल का प्रमुख प्रीमियम ब्रांड ईएएल द्वारा निर्मित और विपणन किया जाता है. ब्रांड ने हाल ही में भारत का पहला इम्यूनिटी बूस्टर एडिबल ऑयल लॉन्च किया है जिसमें 5 पोषक तत्व शामिल हैं जो प्रतिरक्षा को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं. 2019 में, कंपनी ने इमामी हेल्दी एंड टेस्टी मंत्र मसाला, शुद्ध और मिश्रित पाउडर मसालों और टेस्टमेकर्स की एक विविध रेंज के लॉन्च के साथ मसालों की श्रेणी में अपने प्रवेश की घोषणा की थी. इसके बाद 2021 में इमामी हेल्दी एंड टेस्टी स्मार्ट बैलेंस न्यूट्री सोया चंक्स के लॉन्च के साथ प्रसंस्कृत खाद्य (प्रोसेस्ड फ़ूड) श्रेणी में भी प्रवेश किया गया. कंपनी के पास हिमानी बेस्ट चॉइस के ब्रांड नाम के तहत खाद्य तेल की एक लोकप्रिय श्रृंखला भी मौजूद है. 2014 में, इमामी एग्रोटेक लिमिटेड ने रसोई वनस्पति के अधिग्रहण के साथ वनस्पति के लिए अपने खाद्य तेल पोर्टफोलियो का विस्तार किया, जो 50 वर्षों के लिए एक विश्वसनीय ब्रांड है. कंपनी स्पेशलिटी फैट ब्रांड बेक मैजिक भी बनाती है.

वर्ष 2025 तक 25,000 करोड़ रुपये के अपने व्यापार कारोबार के लक्ष को हासिल करने के उद्देश्य से, व्यापार समूह इमामी एग्रोटेक लिमिटेड, इमामी समूह की खाद्य और जैव-डीजल इकाई ने कांडला, गुजरात में अपने नए संयंत्र से खाद्य तेल का उत्पादन शुरू किया है. नया संयंत्र खाद्य तेल और खाद्य खंड में एक प्रमुख राष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में कंपनी के रोडमैप को मजबूत करने और अपने व्यापार लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. 3200 टन प्रति दिन (टीपीडी) की उत्पादन क्षमता वाली कांडला रिफाइनरी, हल्दिया, कृष्णापट्टनम और जयपुर के बाद भारत में कंपनी की चौथी उत्पादन इकाई है.

कांडला संयंत्र की शुरुआत, इमामी एग्रोटेक लिमिटेड की कुल खाद्य तेल उत्पादन क्षमता को 9000 टीपीडी की अपनी पूर्व क्षमता से 12,000 टीपीडी तक ले जाने में कारगर साबित होगी. इमामी एग्रोटेक अपनी कांडला रिफाइनरी से रिफाइंड पाम तेल, रिफाइंड सोयाबीन तेल और वनस्पति तथा बेकरी वसा जैसे मूल्य वर्धित उत्पादों का उत्पादन करेगी.

इस अवसर पर इमामी ग्रुप के निदेशक आदित्य वी. अग्रवाल ने कहा, “तुलनात्मक रूप से एक युवा कंपनी, इमामी एग्रोटेक लिमिटेड 11 साल पहले अपनी यात्रा शुरू करने के बाद से एक गतिशील और आक्रामक व्यापार रणनीति का पालन कर रही है. कांडला संयंत्र की शुरुआत हमारे लिए एक बड़ा कदम है क्योंकि हमारा लक्ष्य राष्ट्रीय स्तर पर खुद को और मजबूत करना है. हम 2025 तक 25,000 करोड़ रुपये के अपने व्यापार लक्ष्य को प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, क्योंकि हम अगले 3 वर्षों में लगभग 1000-1500 करोड़ रुपये के कुल व्यापार निवेश के साथ नई श्रेणियों में प्रवेश करना जारी रखेंगे ताकि देश के एक अग्रणी खाद्य ब्रांड के रूप में उभर सकें.” इस अवसर पर इमामी ग्रुप के निदेशक मनीष गोयनका ने कहा, “यह 600 करोड़ रुपये की ग्रीनफील्ड परियोजना कांडला में लगभग 54 एकड़ के भूमि क्षेत्र में बनी है, जो कोविड महामारी के चुनौतीपूर्ण समय के बीच 1.5 साल के रिकॉर्ड समय में संचालन शुरू करने के लिए पूरी हुई है.

संबंधित पोस्ट

Update Aadhaar Address Online: जानिए किस तरह घर बैठे आधार कार्ड में ऑनलाइन अपडेट किया जा सकता है पता

सोनू सूद बने झंडू बाम के ब्रांड एंबेसडर

Hindustanprahari

हफ्ते के आखिरी दिन गिरावट के साथ खुले शेयर बाजार, RIL और HDFC के शेयर टूटे

राशिफल 24 जुलाई: इन 5 राशिवालों के आज पूरे होंगे अटके काम, सुधरेगी आर्थिक स्थिति

नेशनल ज्वेलरी अवार्ड 2021-22 जूरी राउंड का समापन, 23 सितंबर को ग्रैंड फिनाले के लिए मंच तैयार

Hindustanprahari

Singer Aaman Trikha & Actor Abhay Pratap Singh graced LG Best Shop for ‘Bappa Aaye, Khushiyan Laaye’ Ashtavinayak Darshan

Hindustanprahari