ब्रेकिंग न्यूज़
बिज़नेस

ईटीएस ने भारत में बढ़ाई उपस्थिति

प्रमुख ब्रांड टोफल® और जीआरई® के विकास को ध्यान में रखते हुए

मुंबई: गैर-लाभकारी संसथान ईटीएस ने ईटीएस इंडिया के गठन की घोषणा की, संगठन के वैश्विक पदचिह्न को विकसित करने के लिए आधिकारिक तौर पर देश में एक कार्यालय की स्थापना की गयी है ताकि शिक्षार्थियों को उनकी आजीवन शैक्षिक यात्रा के हिस्से के रूप में सेवा जारी रखा जा सके। लीजो सैम ऊमेन, जो इससे पहले पियर्सन™में कार्यरत थे, प्रबंध निदेशक के रूप में ईटीएस इंडिया का नेतृत्व करेंगे। इस भूमिका में, ऊमेन भारत में ईटीएस के उत्पादों और सेवाओं के लिए समग्र विकास रणनीति को विकसित और कार्यान्वित करेंगे।

ईटीएस लंबे समय से भारतीय शिक्षा समुदाय के लिए प्रतिबद्ध है और ईटीएस इंडिया कार्यालय की स्थापना शिक्षार्थियों का समर्थन करने में एक स्वाभाविक अगला कदम है, सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि विश्व स्तर पर भी साथ ही उच्च शिक्षा संस्थानों के समर्थन स्वरुप में ईटीएस विविध स्नातक छात्रों को आकर्षित करना जारी रखेगा । ईटीएस इंडिया का गठन देश में प्रमुख भागीदारों के साथ संगठन के संबंधों को मजबूत करना जारी रखेगा, ईटीएस और भारतीय व्यवसायों दोनों को सहयोग और निवेश के अवसर प्रदान करेगा, जिसमें स्कूल, संस्थान, निगम, शिक्षा एजेंट, भाषा प्रशिक्षक और विदेशों में अध्ययन करने की मदद करने वाले सलाहकार शामिल हैं।

ईटीएस नई शिक्षा नीति (एनईपी) के ढांचे के माध्यम से सभी भारतीयों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में सुधार और व्यापक पहुंच के लिए भारत के साहसिक और दूरदर्शी दृष्टिकोण के साथ दृढ़ता से जुड़ा हुआ है, और यह भारतीय छात्रों को उपलब्ध अवसरों में वृद्धि करेगा” मोहम्मद कौशा, ईटीएस में ग्लोबल ग्रोथ के एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट कहते हैं। ईटीएस का मिशन-उन्मुख दृष्टिकोण सभी के लिए शिक्षा में गुणवत्ता और समानता को आगे बढ़ाने के सोच के अनुरूप है। हम भारत के लोगों के लिए देश में सीखने के अवसरों का विस्तार करने के लिए तत्पर हैं और लीजो के बोर्ड में होने से हमें इसे पूरा करने में मदद मिलेगी।

ऊमेन ने कहा, “मैं ईटीएस में शामिल होने और भारत के कार्यालय और टीम का नेतृत्व ऐसे समय में कर रहा हूं जब संगठन महत्वपूर्ण परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है, क्योंकि हम दुनिया भर में शिक्षार्थियों की सेवा करने के भविष्य को देखते हैं। भारत में पहले से मौजूद मजबूत नींव पर निर्माण करने का मेरा इरादा है। इस के साथ ही ईटीएस के मौजूदा उत्पादों के मूल्य को मजबूत करना, जिसमें टोफल®, फैमिली ऑफ असेसमेंट, जीआरई® टेस्ट और टीओईआईसी® परीक्षा, साथ ही नए सीखने के उपकरण और व्यावसायिक अवसर शामिल हैं।”

पियर्सन में, ऊमेन ने पीटीई®-अकादमिक परीक्षण की निगरानी के साथ महाप्रबंधक के रूप में कार्य किया और संगठन के मजबूत व्यावसायिक प्रदर्शन में उनके योगदान के लिए श्रेय दिया गया, जिससे विकास, राजस्व, परिचालन प्रदर्शन और लाभप्रदता में महत्वपूर्ण परिणाम मिले। पियर्सन से पहले, उन्होंने रिलायंस मनी, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक सहित संगठनों में भूमिकाएँ निभाईं। वह बैंगलोर विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र हैं।

कोविड -19 के प्रभावों के बावजूद, ईटीएस ने भारतीय छात्रों और संस्थानों की जरूरतों और हितों की सेवा करने वाले अनुसंधान और मूल्यांकन समाधान देने पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखा ताकि उनकी शिक्षा की जरूरतें और आवश्यकताएं निर्बाध बनी रहें। टोफल® आयी बी टी® होम एडिशन और जीआरई® जनरल टेस्ट एट होम सहित घर पर परीक्षण के शुभारंभ की घोषणाओं के साथ-साथ आधार कार्ड का उपयोग एक पहचान पत्र के तौर पर प्रावधान करके हमारे परीक्षणों तक पहुंच का लोकतंत्रीकरण किया गया है तथा भारत में टोफल® एसेंशियल्स™ परीक्षण का शुभारंभ भी किया गया है।

###

संबंधित पोस्ट

शक्तिभोग कंपनी के चेयरमैन पर मनीलांड्रिंग का आरोप

Hindustanprahari

राशिफल 31 जुलाई: इन 5 राशि वालों के बनेंगे अटके हुए काम, सुधरेगी आर्थिक स्थिति

Zomato IPO: संस्थागत और खुदरा निवेशकों दोनों से आईपीओ की मजबूत मांग जारी रहेगी: एंजेल ब्रोकिंग

Hindustanprahari

ऑडी इंडिया ने एक आकर्षक नए अवतार में ‘ऑडी Q5’ लॉन्च की

Hindustanprahari

महिला उपनिरीक्षक सविता माने की मानवता, घायल बुजुर्ग महिला को पहुंचाया अस्पताल

Hindustanprahari

कोरोना वैक्सीनः उत्पादन शुरू, आप तक कब पहुंचेगी वैक्सीन, पढ़ें पूरी खबर