ब्रेकिंग न्यूज़
हेल्थ

अपोलो देश भर के ज़रूरतमंद बच्चों को मुफ्त डिजिटल स्वास्थ्य सलाह प्रदान करेगा

‘सेविंग अ चाइल्ड्स हेल्थ इनिशिएटिव’ अपोलो फाउंडेशन साझेदारी के तहत गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं निःशुल्क और समान तौर पर उपलब्ध कराएगा

नवी मुंबई : डॉ प्रताप सी रेड्डी और उनके परिवार द्वारा शुरू किया गया अपोलो हॉस्पिटल्स फाउंडेशन समाज के लिए अनोखे और अभूतपूर्व तरीकों से योगदान देता रहता है। वंचित समुदायों के बच्चों को चिकित्सा सहायता प्रदान करना इस फाउंडेशन की एक प्रमुख पहल है। अपोलो हॉस्पिटल्स की जॉइंट एमडी डॉ संगीता रेड्डी ने इस पहल के अनुसार “ज़रूरतमंद बच्चों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं निःशुल्क और समान तौर पर उपलब्ध कराने” के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए एक पहल की संकल्पना बनायी है।

अपोलो 24/7 डिजिटल प्लेटफार्म के ज़रिए एक साल भर के लिए (7 जुलाई 2022 तक) अपोलो हॉस्पिटल्स के बाल रोग चिकित्सकों द्वारा सलाह सेवाएं निःशुल्क उपलब्ध कराते हुए बेहतर स्वास्थ्य की नींव रखना यह ‘साची’ – SACHi का लक्ष्य है। ‘सेविंग अ चाइल्ड्स हेल्थ इनिशिएटिव’ यह छोटे बच्चों के लिए काम करने वाले एशिया के सबसे बड़े संगठनों में से एक है। इस साझेदारी के तहत 180 से ज़्यादा बाल रोग चिकित्सक ‘साची’ की पहल में सहयोग दे रहे हैं। हर बच्चे को – चाहे वो किसी भी समुदाय का हो या उसकी पृष्ठभूमि कुछ भी हो – उसे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं मिलनी चाहिए यह ‘साची’ का उद्देश्य है।

हमारे देश में 0 से 14 साल तक के आयु वर्ग का कुल आबादी में हिस्सा 26% से ज़्यादा है लेकिन फिर भी छोटे बच्चों का स्वास्थ्य इस विषय की ओर ठीक से ध्यान नहीं दिया गया है। यूनिसेफ के अनुसार भारत में हर साल 250 लाख बच्चें जन्म लेते है यानि पूरी दुनिया में साल भर में जितने बच्चें पैदा होते हैं उनमें से 1/5 वां हिस्सा भारत का होता है। वर्तमान चुनौतीपूर्ण दौर में मूल्यवान जीवन की सुरक्षा के लिए गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना बहुत ज़रूरी है। स्वास्थ्य सेवाएं पाने में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए साची की नयी पहल को अपोलो 24/7 प्लेटफार्म के साथ जोड़ा गया है। यहां 16 वर्ष से कम आयु के ज़रूरतमंद बच्चों को उनके घर पर ही कई अलग-अलग सेंटर्स से डिजिटल सलाह दी जाएगी। इसके लिए उन्हें किसी भी प्रकार का शुल्क देने की आवश्यकता नहीं है।

इस पहल के शुभारंभ अवसर पर अपोलो फाउंडेशन की वाईस चेयरपर्सन सीएसआर उपासना कामिनेनी कोनिडेला ने कहा, “डॉ संगीता रेड्डी छोटे बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर काफी जागरूक और संवेदनशील है। इस विषय में उनकी सोच, संकल्पना और हमारे बाल रोग विशेषज्ञों से मिल रहे सहयोग से हमें देश भर के वंचित समुदायों के छोटे बच्चों को निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने में मदद मिल रही है। बच्चों का टीकाकरण अभी हुआ नहीं है, इस वजह से उन्हें सबसे ज़्यादा खतरा है। लिंक शेयर करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करके और इस पहल के लाभ ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचा कर हमें भी इसमें योगदान देना चाहिए। स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें। हम आपकी मदद के लिए सदैव तत्पर है।”

संबंधित पोस्ट

राशिफल 27 जुलाई: आज इन राशिवालों को रहना होगा सावधान, संभलकर करें निवेश

राशिफल 24 जुलाई: इन 5 राशिवालों के आज पूरे होंगे अटके काम, सुधरेगी आर्थिक स्थिति

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के पहले कोच अशोक मुस्तफी का निधन

कौन से फल होते हैं डाइबटीज में घातक ?

Hindustanprahari

कमर दर्द को गंभीरता से लीजिये

Hindustanprahari

पायरामेड द्वारा विशेषज्ञ चिकित्सकों से ऑनलाइन उचित सलाह

Hindustanprahari