ब्रेकिंग न्यूज़
राज्य

अकेले रह गए चिराग पासवान

 

बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है . एलजेपी के पांच सांसदों ने पार्टी से अलग होने का फैसला कर लिया है. सूत्रों से खबर मिली है कि एलजेपी के छह में से पांच लोकसभा सांसदों ने हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद पशुपति नाथ को संसदीय दल का नेता चुना है. पशुपति नाथ चिराग पासवान के चाचा हैं. चिराग पासवान को हटाकर नेता चुना जाना बिहार की राजनीति के लिहाज से बड़ी घटना है. कुल छह में से पांच सांसदों के जाने से चिराग अकेले पड़ गए हैं. अब उन्हें नई रणनीति बनानी होगी.

संसदीय दल का नया नेता चुने जाने के संबंध में पत्र लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को सौंप भी दिया गया है. अब लोकसभा अध्यक्ष अगर इस पत्र के आधार पर संसदीय दल के नेता के तौर पर पशुपति नाथ को मान्यता दे देते है तो चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल के नेता की मान्यता खत्म हो जाएगी.

सूत्रों के मुताबिक, चुनाव पत्र पर हस्ताक्षर करने वाले लोक जनशक्ति पार्टी के सांसदों के नाम हैं- नवादा से चंदन कुमार, समस्तिपुर से प्रिंस पासवान, खगड़िया से महबूब अली केसर, वैशाली से वीणा देवी. ये सभी चिराग पासवान के कामकाज से खुश नहीं थे और पार्टी को अपने तरीके से चलाने से नाराज थे. खबर है कि ये पांचों सांसद जेडीयू में शामिल हो सकते हैं.

क्या यह सब बीजेपी-जेडीयू के बड़े नेताओं की शह पर हुआ है। आज पशुपति नाथ के घर पर दोपहर में बैठक हो सकती है उसके बाद पार्टी के नए फैसले को सार्वजनिक कर दिया जाएगा. जानकारी के मुताबिक, इस बड़े ऑपरेशन की जानकारी बीजेपी और जेडीयू के बड़े नेताओं को भी है. उधर केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार की चर्चा चल रही है. जेडीयू में भी घमासान है. अभी एनडीए गठबंधन में जेडीयू के 16 सांसद हैं. पिछली बार कैबिनेट विस्तार के समय जेडीयू के शामिल होने की चर्चा थी. हालांकि अंत में बात नहीं बन सकी थी. अब इधर एलजेपी में फूट की खबर ने सियासत को और तेज कर दिया है.

बिहार विधानसभा चुनावों के दौरान रामविलास पासवान की मृत्यु के बाद से चिराग पासवान खुद पार्टी का नेतृत्व कर रहे हैं. हालांकि विधानसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन से अलग चुनाव लड़ने का फैसला लेने के बाद एनजेपी की बुरी हार हुई. उसके बाद हाशिये पर चल रही एलजेपी की राजनीति और बिहार की राजनीति में ये बड़ा भूचाल ला सकती है.

संबंधित पोस्ट

एक मई से टीकाकरण का “तीसरा चरण”, 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लगेगा टीका

Hindustanprahari

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान दूसरी बार बनने जा रहे दूल्हा

Hindustanprahari

तेली समाज का राष्ट्रीय अधिवेशन महाराष्ट्र के शिरडी में होगा सम्पन्न

Hindustanprahari

बाबू वीर कुंवर सिंह जयंती पर पधारे केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना हवाई अड्डा पर किया स्वागत

Hindustanprahari

कोविड-19 के इस मुश्किल समय में हेल्थ और हाइजिन से जुड़े प्रोडक्ट्स पर एशियन पेंट्स का जोर: अमित सिंगलेे

दैनिक राशिफल……31 जुलाई, 2020, शुक्रवार